खाड़ी क्षेत्र में शांति, स्थिरता के लिए भूमिका निभाएगा चीन

खाड़ी क्षेत्र में शांति, स्थिरता के लिए भूमिका निभाएगा चीन

Beijing

संयुक्त राष्ट्र संघ स्थित स्थायी चीनी प्रतिनिधि चांग च्वन ने सोमवार को कहा कि ईरान और अमेरिका के बीच के तनाव के कारण मध्य पूर्व में फैले तनाव पर चीन की निगाह है। चीन की कोशिश इस वक्त मध्य पूर्व में हालात को बिगड़ने से बचाना है। सुरक्षा परिषद का स्थाई सदस्य होने के नाते चीन इसके लिए सक्रिय रूप से काम कर रहा है।
चांग च्वन ने मीडिया से कहा कि चीनी स्टेट काउंसलर व विदेश मंत्री वांग यी ने रूस, फ्रांस और ईरान के विदेश मंत्रियों से फोन पर बातचीत की है। चीन अंतर्राष्ट्रीय संबंधों में बल के प्रयोग का विरोध करता है। अमेरिका की एकतरफा सैन्य कार्यवाई ने अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के बुनियादी नियमों का उल्लंघन किया है और क्षेत्रीय तनावपूर्ण परिस्थिति को बिगाड़ा है। चीन, अमेरिका से बल का दुरुपयोग न करने का आह्वान करता है और विभिन्न पक्षों से संयम रखकर वार्ता के जरिए समस्या का हल करने की अपील भी करता है। साथ ही उसका मानना है कि इराक की प्रभुसत्ता, स्वतंत्रता, एकता का सम्मान किया जाना चाहिए।

चांग च्वन ने कहा कि सुरक्षा परिषद को अंतर्राष्ट्रीय शांति और सुरक्षा को प्राथमिकता देना चाहिए। सुरक्षा परिषद समेत अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को हालिया परिस्थिति में तनाव घटाने के लिए प्रयास करना चाहिए। चीन विभिन्न पक्षों से संपर्क को बरकरार रखकर व न्यायपूर्ण रुख अपनाकर मध्य-पूर्व के खाड़ी क्षेत्र की शांति और स्थिरता की रक्षा करना चाहता है।

उन्होंने कहा कि हाल ही में अमेरिका ने सुरक्षा परिषद में इराक स्थित अमेरिकी दूतावास पर हुए हमले पर बयान जारी करने की कोशिश की, लेकिन चीन, अमेरिका की निंदा को कतई स्वीकार नहीं करता है।

यह भी पढ़ें :  IPL-13 का आज से टीवी पर धूमधड़ाका, पहली बार मैदान में नहीं देख सकेंगे दर्शक

चांग च्वन ने कहा कि चीन अंतर्राष्ट्रीय कानून के मुताबिक विदेशों में विभिन्न देशों की संस्थाओं की सुरक्षा का समर्थन करता है। लेकिन, अमेरिका की एकतरफा सैन्य कार्रवाई ने क्षेत्रीय परिस्थिति में तनाव पैदा किया है।