मेरठ/बहराइच।

देश की महिलाएं जहां एक ओर अपने पति को शराब से बचाने के लिए तमाम तरीकों का प्रयोग और आंदोलन करती रहती हैं। लेकिन इससे इतर हमारे देश का किसान आलू के खेतों में शराब का भरपूर उपयोग कर रहा है।

आलू किसानों का कहना है कि शराब के छिड़काव से आलू का ग्रोथ बहुत तेज़ी से बढ़ता है। जिले के किसान आलू की अधिक पैदावार के लिए खेतों में शराब का छिड़काव कर रहे हैं।

'नशेड़ी आलू': उत्तर प्रदेश में आलू को करवाया जा रहा है 'शराब का नशा'- 1

किसानों की मानें तो इससे फसल पर शीतलहरी का प्रकोप नहीं लगता है। आलू की पैदावार अधिक होती है और आलू का साइज भी मोटा होता है। जिससे अधिक मुनाफा होता है।

उत्तर प्रदेश के बहराइच समेत कई ज़िलों में इन ज्यातातर किसान आलू की अधिक पैदावार करने के लिए कीटनाशक दवाओं के साथ साथ शराब का भी स्प्रे कर रहे हैं।

किसानों का कहना है कि, शराब के स्प्रे से आलू की पैदावार में बढ़ोतरी होती है और आलू जल्द ही पक जाता है।

एक किसान ने बताया कि शराब के स्प्रे से आलू पर कोई खराब असर नहीं पड़ता है, बल्कि उपज अच्छी होती है।

ठंड में अधिक पाला पड़ने की वजह से भी आलू में शराब का स्प्रे किया जाता है। इससे आलू के पौधे की ताकत बढ़ जाती है, जिसके कारण वह सर्दी से बेपरवाह होकर बढ़ता रहता है।

इस बारे में उद्यान विभाग का कहना है कि शराब का छिड़काव आलू की पैदावार बढ़ाता है, लेकिन इसका कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है।