डॉ. सुनील खटीक

एकदिवसीय क्रिकेट विश्वकप के 46वें मैच के पहले सेमीफाइनल में भारत न्यूजीलेंड से 18 रन से हार गया |

न्यूजीलेंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 8 विकेट खोकर 239 रन बनाएं | पहली पारी के 46.1 ओवर में शुरू हुई बारीश से आधा मैच बुधवार को खेला गया |

एकदिवसीय क्रिकेट वर्ल्ड कप का दो दिवसीय मैच का आयोजन भारतीय टीम के लिए भाग्यशाली नहीं रहा | पहले बल्लेबाजी करते हुए न्यूज़ीलैंड ने शुरूआती 10 ओवर में 01 विकेट खोकर मात्र 27 रन बनाएं |

धोनी से दुखी लोग गावस्कर का मैच देख ले 1

अंतिम 10 ओवर में बेन स्टोक्स (79/54) और जोस बटलर (20/8) की धुआँधार पारी से न्यूज़ीलैंड ने 84 रन बनाकर भारत को 240 रन का सम्मानजनक लक्ष्य दिया |

बेहतरीन बल्लेबाजी का प्रदर्शन कर रही भारतीय टीम के लिए यह स्कोर बौना दिख रहा था | पर क्रिकेट को तो अनिश्चितताओं का खेल कहा जाता हैं | शुरूआती 3 विकेट भारत ने चौथे ओवर की पहली गेंद पर 5 रन के स्कोर पर खो दिए |

शुरूआती 10 ओवर में भारतीय टीम का स्कोर 24/4 हो गया | कुछ हद तक रिषभ पंत 32(56) और हार्दिक पांड्या 32(62) ने पारी को संभालने की कोशिश की | 11-20 ओवर में 46 रन जोड़े | पर इसके बाद 21-30 ओवर में 22 रन ही बन पाएं |

धोनी से दुखी लोग गावस्कर का मैच देख ले 2

8वें नंबर पर बल्लेबाजी करने आए रविन्द्र जड़ेजा ने 4 छक्कों और इतने ही चौकों की मदद से 59 गेंदो पर धुआँधार 77 रन बनाएं | अंतिम 18 गेंदो पर 37 रन की जरूरत थी |

48वें ओवर में 6 रन ही बन पाएं और 5वीं गेंद पर बड़ा शॉट खेलने के चक्कर में जड़ेजा विलियम्सन द्वारा लपक लिए गए |

49वें ओवर की 4 गेंद पर धोनी दुसरा रन चुराने के चक्कर में गुप्टिल के सीधे थ्रो पर रन आउट हो गए | इस तरह न्यूज़ीलैंड ने भारतीय टीम को 18 रन से मैच हरा दिया |

मैच के परिणाम से दुखी भारतीय प्रशंसक सोशल मीडिया पर धोनी (50/72) की धीमी बल्लेबाजी को कोस रहे हैं | इंग्लैंड की विरूद्ध भी आवश्यक रन रेट के विरूद्ध धीमी बल्लेबाजी के चलते धोनी को आलोचना का सामना करना पड़ा |

सोशल मीडिया पर छिड़े युद्ध में संजय मांजरेकर और रविन्द्र जड़ेजा भीड़ गए थे| पर आपको गावस्कर की एक पारी पर विश्वास नहीं होगा |

आइयें आपको बताते 1975 विश्व कप के लंदन में हुए भारत-इंग्लैंड मैच के बारे में| जिसमें पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड ने 4 विकेट के नुकसान पर 334 रन बनाएं |

तब मैच 60 ओवर के हुआ करते थे | जवाब में भारतीय टीम ने पूरे ओवर खेलते हुए 3 विकेट के नुकसान पर 132 रन बनाएं |

इस मैच में भारतीय टीम जीतने के लिए खेलती नजर नहीं आई | इस मैच के चर्चा अक्सर की जाती रही हैं | जिसमें ओपनर सुनील गावस्कर ने 134 गेंदो का सामना करते हुए 36 रन बनाए |

उन्होनें पूरे मैच में एक चौका लगाया और सबसे रोचक बात वो नाबाद रहे | और इंग्लैंड ने यह मैच 202 के विशाल अंतर से जीत लिया |