नई दिल्ली।

लगातार दो दिन तक पाकिस्तान के कब्जे में रहने के बाद आखिरकार भारत के विंग कमांडर (wing commander) अभिनंदन वर्धमान (Abhinandan vartaman) आज भारत की पहुंच गए।

बाघा बॉर्डर पर उनकी अगुवाई करने के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह मौजूद थे, इसके अलावा हजारों की संख्या में लोग अभिनंदन का भव्य अभिनंदन करने के लिए दिनभर बाघा बॉर्डर पर डटे रहे।

विंग कमांडर अभिनंदन की रिहाई और भारत लौटने के दौरान देश की रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने पूरी नजर बनाए रखी और आख़िर भारत को सौंपने के बाद अभिनंदन का देश के करोड़ों-करोड़ों लोगों ने भव्य अभिनंदन किया है।

आपको बता दें कि बुधवार को पाकिस्तान द्वारा की गई जवाबी कार्रवाई के वक्त पाकिस्तान के 24 f-16 विमानों का पीछा करते हुए विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान अपने मिग-21 के f16 को मारकर खुद भी पाकिस्तान में उतर गए थे, उनको पाकिस्तान की सेना ने गिरफ्तार कर लिया था।

लेकिन भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कूटनीति के कारण विंग कमांडर अभिनंदन को केवल 48 घंटे के भीतर रिहा करने का पाकिस्तान को ऐलान करना पड़ा।

अभिनंदन पाकिस्तान की आर्मी ने पहले रेड क्रॉस सोसायटी को सौंपा। उसके बाद भारत पाकिस्तान की वाघा बॉर्डर पर रेड क्रॉस सोसायटी के अधिकारियों ने भारतीय आर्मी के अफसरों को विंग कमांडर को सौंपने की औपचारिकता पूरी की।

इससे पहले पाकिस्तान ने कहा था कि आज 5:00 बजे तक भारत के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान भारत को सौंप दिए जाएंगे, लेकिन कागजी कार्रवाई में पाकिस्तानी लंबा समय खराब किया। आखिरकार 4 घंटे देरी से करीब 9 बजे अभिनंदन वर्धमान भारत पहुंच गए।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।