sms medical resident doctors strice in jaipur
sms medical resident doctors strice in jaipur (File photo)

Jaipur news.
शहर का बड़ा सरकारी अस्पताल। यहां पर ड्यूटी पर तैनात हैं एक महिला डॉक्टर। कुछ परिजन अपने मरीज को लेकर आते हैं। महिला डॉक्टर ट्रीटमेंट Order तैयार करने में जुटी हैं, लेकिन तभी परिजनों के द्वारा जल्दी इलाज करने को लेकर गाली-गलौच शुरू कर दी जाती है।

डॉक्टर उनको समझाने की कोशिश करती हैं, तो परिजन रेजिडेंट महिला डॉक्टर के बाल खींचते हैं, लातें मारीं। इससे घबराई डॉक्टर बड़ी मुश्किल से जाकर बाथरुम में घुसकर जान बचाती हैं।

यह कोई फिल्मी सीन नहीं है, बल्कि राजस्थान की राजधानी जयपुर के सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज संबद्ध कावंटिया अस्पताल का मामला है। इस घटना के चलते एसएमएस मेडिकल कॉलेज से संबद्ध सभी सातों अस्पतालों के रेजिडेंट डॉक्टर्स ने हड़ताल कर दी है।

डॉक्टरों ने आरोपियों को पकड़ने, अधीक्षक डॉ. लिनेश्वर हर्षवर्धन को हटाने, सीसीटीवी कैमरे लगाने और फिजिकली फिट गार्ड तैनात करने की मांग की है।

यह है पूरी घटना

रेजिडेंट डॉक्टर्स और अस्पताल से मिली जानकारी के मुताबिक बीती रात 9 बजे कावंटिया अस्पताल में महिला रेजिडेंट डॉक्टर ड्यूटी पर तैनात थीं। उसी दौरान परिजन एक मरीज को लेकर आए। मरीज के लिए डॉक्टर order लिख ही रहीं थीं कि परिजन तेश में आ गए।

उन्होंने ट्रीटमेंट order फाडकर फेंक दिया और महिला डॉक्टर से गालियां निकालते हुए बत्तमीजी की। जिसका डॉक्टर द्वारा विरोध करने पर उन्होंने डॉक्टर के बाल खींचकर घसीटा और लातें मारीं। इससे सकते में आईं डॉक्टर ने बाथरुम में घुसकर जान बचाई।

दादागिरी करने वाले आ गए

जयपुर एसोसिएशन of रेजिडेंट डॉक्टर्स (Jard) के अध्यक्ष डॉ. विजय चौधरी ने बताया कि इतना कुछ होने के बावजूद डॉक्टर द्वारा मरीज का इलाज किया जा रहा था। लेकिन इसके बाद मरीजों के परिजनों द्वारा फोन कर कुछ असामाजिक तत्वों को बुला लिया गया।

जिन्होंने न केवल जी भरकर खूब गाली गलौच की, बल्कि मौके पर मौजूद स्टाफ को धमकाया। (इसका वीडियो भी रेजिडेंट्स ने जारी किया है) इसके बाद मरीज को एसएमएस रेफर कर दिया गया।

करीब 50 हजार मरीज प्रभावित, 4 हजार Operation टले

घटना के बाद एसएमएस मेडिकल कॉलेज से संबद्ध सभी सातों अस्पतालों में रेजिडेंट हड़ताल पर चले गए हैं। इसके चलते करीब 50 हजार मरीज प्रभावित होंगे। साथ ही लगभग 4 हजार Operation भी टाले जा रहे हैं।

इस हड़ताल में करीब 2500 रेजिडेंट डॉक्टर शामिल हैं। चेतावनी दी है कि आरोपियों के खिलाफ कल तक कोई एक्शन नहीं लिए जाने पर पूरे प्रदेश में हड़ताल की चेतावनी दी गई है।
अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।