CM वसुंधरा राजे ने वह सियासी करिश्मा कर दिया, जो बरसों से नहीं हुआ था, पढ़िए—

294
nationaldunia
- नेशनल दुनिया पर विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें 9828999333-
dr. rajvendra chaudhary jaipur-hospital

जयपुर।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे इन दिनों राजस्थान गौरव यात्रा पर हैं। उन्होंने गुरूवार को ही दौसा के लालसोट इलाके से अपनी यात्रा के चौथे चरण की शुरुआत की है। उनके दौरे का यह चरण 24 सितंबर को पूरा होगा।

यात्रा के पहले दिन सीएम राजे ने यहां वह कर दिखाया है, जो बीते बरसों से नहीं हो पाया था। सीएम राजे ने पूर्वी राजस्थान में मीणा समाज के दो धुर विरोधी नेताओं को पार्टी के लिए एक मंच पर लाने में कामयाबी हासिल की है।

यह सर्वविदित है कि दौसा, करौली, सवाई माधोपुर व धौलपुर समेत पूरे पूर्वी राजस्थान के मीणा समाज में वर्चस्व को लेकर बीते लंबे समय से सियासी जंग चल रही थी। जिसके कारण दोनों काफी समय से एक मंच पर नहीं आए।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने गुरुवार को दोनों नेताओं को न केवल एक मंच पर लाने में कामयाबी हासिल की है, बल्कि आने वाले विधानसभा चुनावों में बीजेपी के लिए एक साथ मिलकर प्रचार करने की हिदायत भी दी है। मंच पर सीएम राजे ने दोनों का हाथ पकड़कर यह संदेश दिया है कि दोनों नेता बीजेपी के लिए काम करेंगे।

आपको बता दें कि 9 साल बाद कुछ माह पहले ही किरोड़ीलाल मीणा की भाजपा में वापसी हुई है। इससे पहले मीणा 2003 से 2008 के दौरान सीएम राजे के मंत्री मं​ड़ल में रह चुके हैं। वो अब भाजपा के राज्यसभा सांसद हैं। इधर, ओमप्रकाश हुड़ला भाजपा के टिकट पर विधायक हैं।

इस मौके पर सीएम राजे ने कहा है कि दौसा जिले के लोगों की ईआरसीपी से प्यास बुझाई जायेगी। इसके लिए 37 हजार करोड़ की योजना तैयार कर ली गई है।

इस योजना के अमल में आ जाने पर दौसा सहित 13 जिलों में पेयजल एवं सिंचाई की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। राजे दौसा में आयोजित एक विशाल जनसभा में बोल रही थीं।

राजे ने कहा कि राजनीति हो या घर महिलाओं को परेशानियों का सामना करना ही पड़ता है। लोग सोचते हैं महिला है। यह क्या कर लेगी, लेकिन जब वह ठान लेती है तो इतिहास बदल देती है। महिला घर भी संभाल लेती है तो अपना क्षेत्र भी।

उनकी सरकार ने महिलाओं के लिए जन्म से लेकर वृद्धावस्था तक ऐसी योजनाएं बनाई हैं, जिससे उन्हें किसी के सामने हाथ फैलाने की जरूरत नहीं है।

उन्होंने कहा कि राजश्री योजना में बेटी को लक्ष्मी का रूप मानकर जन्म से लेकर लगातार सरकारी स्कूल में 12वीं कक्षा पास करने तक उसे 50 हजार रुपए हमारी सरकार देती है।

इसके अलावा साइकिल, स्कूटी, लेपटॉप, छात्रवृत्ति, स्कूल दूर तो आने-जाने के लिए वाउचर, श्रमिक कार्डधारी है तो विवाह के लिए 55 हजार रुपए देकर महिला को सशक्त किया जा रहा है।

महिला परित्यक्ता, विधवा, दिव्यांग और वृद्धा है तो उसे पेंशन दी जा रही है। पालनहार योजना में बच्चों को पालने के लिए 1 हजार रुपए तक प्रति बच्चा हर माह दिए जा रहे हैं।

राजे ने कहा कि महिलाओं को घर का मुखिया बनाने के लिए हमने भामाशाह योजना शुरू की। हमारी बेटियों की तरफ कोई आंख उठाकर न देखें, इसलिए हमने 12 साल से कम उम्र की बच्ची से दुष्कर्म करने पर फांसी की सजा का कानून बनाया।

अब तक 3 आरोपियों को यह सजा सुना दी गई है, जबकि कांग्रेस के समय में निर्भया जैसे बडे-बड़े प्रकरण हो गये पर कांग्रेस ने कुछ नहीं किया।

यहां तक कि उस समय प्रधानमंत्री रहते हुए न तो मनमोहन सिंह बोले और कांग्रेस अध्यक्ष रहते हुए न सोनिया गांधी बोलीं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार किसानों का 50 हजार तक का कर्जा माफ किया जो इतिहास में पहली बार है। तीन हजार करोड़ फसल बीमा में किसानों को दिये गये हैं।

सीएम राजे ने कहा कि इतिहास में पहली बार 4 प्रतिशत वेट में कमी करके पेट्रोल-डीजल के दाम ढाई रुपए प्रति लीटर कम किए हैं। पेट्रोल-डीजल के दामों में इतनी बड़ी राहत देने वाली देश में सिर्फ भाजपा की राजस्थान सरकार है।

इससे किसान, व्यापारी, विद्यार्थी, कर्मचारी, महिलाओं सहित हर वर्ग को राहत मिली है। उन्होंने कहा कि हमने किसानों की बिजली के दाम नहीं बढ़ाए। घरेलू बिजली पूरे प्रदेश में 20 घंटे दी जा रही है।

500 रुपए घरेलू कनेक्शन दिये जा रहे हैं। मार्च 2019 तक प्रदेश में ऐसा कोई घर नहीं बचेगा, जहां बिजली से उजाला न होगा।

राजे ने कहा कि अच्छा काम करे तो भी कांग्रेस दुखी होती है। हमने कई काम ऐसे किये हैं जो भूतो न भविष्यति। करीब 6 हजार कॉन्स्टेबल को हैड कॉन्स्टेबल पद पर पदोन्नति दी।

इसमें भी ये लोग दुखी होते हैं। इतिहास में पहली बार पुलिसकर्मियों का बीमा बढ़ाया। अच्छा काम करो तो भी इन्हें तकलीफ रहती है।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि विकास की गाड़ी इन साढे चार सालों में पटरी पर आई है। विकास की तेज दौड़ती हुई इस गाड़ी को पटरी पर से नहीं उतारें।

इसे और दौड़ने दें, ताकि राजस्थान भी गुजरात, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ की तरह विकास की दौड़ में आगे निकल सकें।

उन्होंने कहा कि राजस्थान को प्रगति के नये दौर में ले जाने के लिए आमजन का साथ बहुत जरूरी है। प्रदेश की जनता के साथ मिलकर सरकार कड़ी मेहनत करके राजस्थान को देश का अग्रणी प्रदेश बनाने में कोई कसर नहीं छोडेगी।

सरकार के पास विकास के लिए पैसे की कोई कमी नहीं है। हमारी सरकार में विकास नहीं रुकता, क्योंकि हम जनता के विश्वास पर खरा उतरने का काम करते हैं।

राजे ने कहा है कि डॉ. किरोड़ीलाल मीणा की घर वापसी हो गई है। वे वापस अपने परिवार में आ गये हैं। इससे हमारा भाजपारूपी परिवार मजबूत हो गया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दौसा और सवाई माधोपुर जिले को जोड़ने वाली बहुप्रतीक्षित दौसा-गंगापुर रेलवे लाइन का काम जून 2019 तक पूरा हो जाएगा।

इसके लिए सरकार 700 करोड़ रुपये दे रही है। नांगल राजावतान की सभा में मुख्यमंत्री ने स्थानीय लोगों की मांग पर एनीकट निर्माण और सड़क निर्माण का आश्वासन दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्द ही लालसोट से कौथून के बीच 615 करोड़ रुपये की लागत से फोरलेन सड़क बनेगी। मुख्यमंत्री ने यहां हुए विकास कार्यों की भी जानकारी दी।

बांदीकुई की सभा में मुख्यमंत्री ने कहा कि इस क्षेत्र की 43 पंचायतों में से 80 प्रतिशत पंचायतों में गौरव पथ के काम हो गए हैं। साथ ही 34 पंचायतों में स्कूलों को क्रमोन्नत किया गया है।

उन्होंने कहा कि जल्द ही क्षेत्र के लोगों को 12 करोड़ के पूर्ण हो चुके विकास कार्यों की सौगात मिलेगी। मुख्यमंत्री ने बांदीकुई के श्यालावास खुर्द में देवनारायण मंदिर के दर्शन भी किए।

उन्होंने नांगल राजावतान में मीन भगवान के दर्शन कर प्रदेश की सुख-समृद्धि की कामना की। मुख्यमंत्री ने पपलाज माता के भी दर्शन किए।