-एक जुलाई 2019 को विवि सिंडिकेट बैठक में किया फैसला, शिक्षकों में खुशी की लहर।

Jaipur

राजस्थान विश्वविद्यालय प्रशासन ने सिलीकेट बैठक में अति महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए 1 जनवरी 2004 से पहले के नियुक्त विश्वविद्यालय के सभी शिक्षकों को पुरानी पेंशन स्कीम का लाभ देने का फैसला किया है।

एक जुलाई 2019 को राजस्थान विश्वविद्यालय में हुई सिंडीकेट बैठक के बाद विवि के डिप्टी रजिस्ट्रार डॉ. एमसी गुप्ता के द्वारा जारी एक आर्डर में यह जानकारी सामने आई है।

आपको बता दें कि 1 जनवरी 2004 से पहले नियुक्त 272 शिक्षक लंबे समय से पुरानी पेंशन स्कीम का लाभ देने की मांग कर रहे थे।

विश्वविद्यालय ने कहा है कि पेंशन अधिनियम 1990 में बदलाव करते हुए 29 नवंबर 2018 की सुप्रीम कोर्ट के फैसले के अनुरूप यह फैसला किया गया है।

इसको लेकर कई बार धरना और अनशन भी किया जा चुका है। मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा था उसके बाद सिंडीकेट बैठक में विश्वविद्यालय प्रशासन ने यह संशोधन किया है।

बताया जा रहा है कि इससे राजस्थान विश्वविद्यालय पर सैकड़ों करोड़ का बोझ पड़ेगा, लेकिन शिक्षकों की मांग को मध्य नजर रखते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन ने यह अति महत्वपूर्ण फैसला ले लिया है।

इसके साथ ही बैठक में यह भी फैसला लिया गया है कि संविदा पर कार्यरत सभी कर्मचारियों को ₹6000 प्रति माह की जगह ₹9200 प्रतिमाह वेतन दिया जाएगा।

एक जुलाई 2019 को सिंडिकेट बैठक में हुए इस अति महत्वपूर्ण फैसले के बाद राजस्थान विश्वविद्यालय के सभी 272 शिक्षक खुश हैं।