Jaipur

राजस्थान विधानसभा में मंगलवार को बजट पर चर्चा के दौरान बहुजन समाज पार्टी के विधायक राजेंद्र गुढ़ा ने पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर अमर्यादित टिप्पणी पर सदन में हंगामा खड़ा कर दिया।

राजेंद्र गुढ़ा ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के द्वारा 2013 से 2018 के दौरान मलाई मारने का काम किया गया और राज्य को गर्त में डाल कर चली गई।

गुढ़ा के द्वारा इस तरह मर्यादित और असंवैधानिक टिप्पणी किए जाने के बाद विपक्ष के द्वारा जोरदार हंगामा किया गया।

उप प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ के नेतृत्व में सभी मौजूदा विधायकों ने वेल में आकर नारेबाजी की और सभापति बने राजेंद्र पारीक के द्वारा माफी मांगने की अपील की गई।

काफी देर तक दोनों और से हंगामा होता रहा। इसके बाद सदन में अध्यक्ष सीपी जोशी पहुंचे और उन्होंने मामले को संभालने का प्रयास किया।

जोशी ने चेयर पर बैठते हुए विपक्ष को आश्वस्त किया कि कोई भी विधायक एमएलए आदिति टिप्पणी नहीं करेगा और सदन की नियमावली के अनुसार उसी भाषा में आलोचना करने का हकदार होगा।

इसके बाद गुढ़ा ने फिर से बोलना शुरू किया और उन्होंने एक बार फिर से कहा कि अगर नियमावली से बाहर भाषा का प्रयोग कर रहे हैं, तो उसके लिए माफी मांगते हैं, लेकिन राज्य के मुख्यमंत्री ने राजस्थान को गर्त में धकेलने का काम किया।

उन्होंने बीजेपी के विधायकों की ओर इंगित करते हुए कहा कि यह बेचारे ऐसे थे, जिनको पता ही नहीं था कि मुख्यमंत्री क्या खेल कर रही थी।