fasal kharab hone k baad nirash kisan
fasal kharab hone k baad nirash kisan

-50 प्रतिशत से अधिक चमकहीन गेहूं की खरीद के लिये जांच करेंगे दल, बे-मौसम बारिश से खराब हुए गेहूं खरीद का मामला।

जयपुर। प्रदेश में बेमौसम हुई बारिश एवं ओलावृष्टि से 50 प्रतिशत से अधिक खराब हुए चमकहीन गेहूं की समर्थन मूल्य पर खरीद के लिए केन्द्र सरकार द्वारा चार अधिकारियों के दो दलों का गठन किया है।

आईजीएमआरआई के सहायक निदेशक, आरके सिंह और तकनीकी अधिकारी, राकेश बराला का संयुक्त दल कोटा, बारां एवं बूंदी जिलों समर्थन मूल्य के खरीद केंद्रों की रिपोर्ट तैयार करेगा।

इसी तरह से दिल्ली मुख्यालय के सहायक निदेशक एएन पाण्डे और तकनीकी अधिकारी विरेन्द्र एसी के नेतृत्व में दूसरा दल हनुमानगढ़ एवं श्रीगंगानगर जिलों की मण्डियों और समर्थन मूल्य खरीद के लिए स्थापित किए गए केन्द्रों पर 26 अप्रैल से दौरा कर गेहूं के नमूनों को एकत्र करेगा।

दोनों दल आज से प्रदेश में काम करने शुरू कर देंगे। उपभोक्ता मामलात, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय द्वारा गठित दोनों दल बेमौसम हुई बारिश से खराब हुई गेहूं की चमक के संबंध में एकत्र किए गए नमूनों को भारतीय खाद्य निगम, क्षेत्रीय प्रयोगशला में जांच कर एक समेकित रिपोर्ट पेश करेंगे।

इन दोनों दलों का गठन प्रदेश के किसानों को अधिक से अधिक राहत प्रदान करने के लिए गेहूं खरीद के लिए निर्धारित किए गए मानकों में छूट देने के लिए किया गया है।

50 प्रतिशत से 90 फीसदी करनी है खरीद
प्रदेश में हाल ही में हुई प्राकृतिक आपदा के कारण राज्य सरकार के स्तर से केन्द्र सरकार को मापदण्डों में ढिलाई देने के लिए निवेदन किया गया था।

जिसके क्रम में बुधवार को 50 प्रतिशत तक चमकहीन गेहूं खरीद की अनुमति प्रदान कर दी थी, लेकिन 90 प्रतिशत तक चमकहीन गेहंू की खरीद के लिए अनुमति के लिए केन्द्र सरकार द्वारा इन दो दलों को गठन किया है।

जिनकी रिपोर्ट के बाद 90 प्रतिशत तक चमकहीन गेहूं खरीद की अनुमति भारत सरकार से मिलने की पूरी सम्भावना है।

यहां हुआ था खराबा
बेमौसम बारिश से मुख्य रूप से हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर, कोटा, बारां एवं बूंदी जिलों में गेहूं की फसल प्रभावित हुई थी।

कोटा संभाग में 15 मार्च से तथा प्रदेश के अन्य संभागों में 1 अप्रेल से किसानों से समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीद की जा रही है।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।