रचना चौधरी@नई दिल्ली।

जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में गुरुवार को हुए आत्मघाती हमले में 40 सीआरपीएफ के जवान शहीद हो गए।

इस हमले के बाद पूरा देश गुस्से में है वही हमले के बाद भारत में बैठे कुछ आतंकवादी समर्थकों द्वारा सोशल मीडिया पर जशन मनाए जाने के कमेंट किए तो मामला उनके ऊपर उल्टा पड़ गया।

अधिकांश को विश्वविद्यालय और कॉलेजों से बाहर कर दिया गया है तो सरकारी और प्राइवेट नौकरियां भी चली गईं है।

देश विरोध में आतंकवाद को सपोर्ट कर ट्विटर पर How is the josh! Great sir! लिख चीयर करते हुए अलीगढ़ मुस्लिम विवि में पढ़ने वाले गणित के छात्र बसीम हिलाल को पुलिस ने हिरासत में लिया है। देखिए ऐसे ही कुछ मामले-
1. छत्तीसगढ़ रायपुर की अर्बन नक्सल सुरभी सिंह ने फेसबुक पर सुरक्षाबलों के खिलाफ जहर उगला। उसकी शिकायत करने के बाद सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च ने उनको नौकरी निकाल दिया। उसके खिलाफ केस भी दर्ज किया गया है।

CRPF हमले पर जश्न मनाने वाले नपे, डेढ़ दर्जन को विश्वविद्यालयों ने निकाला, नौकरियां गईं 1
2. पंजाब की राजधानी चंडीगढ़ के मीर इकबाल ने हमले के बाद फेसबुक पर उल्टा-सीधा लिखा। उसके खिलाफ शिकायत की गई। पंजाब पुलिस ने मामले की छानबीन कर रही है।
CRPF हमले पर जश्न मनाने वाले नपे, डेढ़ दर्जन को विश्वविद्यालयों ने निकाला, नौकरियां गईं 2
3. राजस्थान की राजधानी जयपुर की निम्स यूनिवर्सिटी में कश्मीरी तवलीन मंजूर ने जश्न मनाने का स्टेट्स डाला, तो यूनिवर्सिटी ने तवलीन, जहूर, जाहिरा को बाहर कर दिया गया है।
CRPF हमले पर जश्न मनाने वाले नपे, डेढ़ दर्जन को विश्वविद्यालयों ने निकाला, नौकरियां गईं 3
4. राजस्थान के प्रतापगढ़ में एक स्कूल प्रिंसिपल मोहम्मद इकरार अजमेरी ने शहीदों पर अभद्र टिप्पणी की और स्कूल की प्रार्थना सभा में सुरक्षाबलों पर अभद्र बातें कहीं।
CRPF हमले पर जश्न मनाने वाले नपे, डेढ़ दर्जन को विश्वविद्यालयों ने निकाला, नौकरियां गईं 4
5. आसाम राज्य में आईकॉन कॉमर्स कॉलेज की सहायक प्रोफेसर पपरी बैनर्जी ने पुलवामा आतंकी हमले का समर्थन किया और मजाक उड़ाया। कॉलेज ने कार्रवाई करते हुए पपरी बैनर्जी को सस्पेंड कर दिया। बाद में पपरी ने फेसबुक पर खेद भी व्यक्त किया है, लेकिन अब क्या।
CRPF हमले पर जश्न मनाने वाले नपे, डेढ़ दर्जन को विश्वविद्यालयों ने निकाला, नौकरियां गईं 5
6. हैदराबाद में ऑनलाइन मीडिया के पत्रकार बाला ने न सिर्फ देश की रक्षा करने वाले वीर सुरक्षाबलों पर अभद्र आरोप लगाया, बल्कि कई तरह की अलगाववादी बातें भी लिखी। उसपर हैदराबाद में रिपोर्ट दर्ज करायी गयी है। बाला ने अपना अकाउंट बंद कर दिया। बाला की कंपनी न्यूजमिनट की तरफ से कोई एक्शन नहीं आया है।
CRPF हमले पर जश्न मनाने वाले नपे, डेढ़ दर्जन को विश्वविद्यालयों ने निकाला, नौकरियां गईं 6
7. मोहम्मद अशरफ जम्मू के ही श्रीनगर जिले में ह्यूंडई कार के शोरूम में नौकरी करता है। उसके खिलाफ शिकायत करने पर कंपनी ने मोहम्मद अशरफ को नौकरी से निकालकर बाहर कर दिया है।
CRPF हमले पर जश्न मनाने वाले नपे, डेढ़ दर्जन को विश्वविद्यालयों ने निकाला, नौकरियां गईं 7
8. शमशेर राणा नामक स्टूडेंट ग्राफिक एरा हिल यूनिवर्सिटी में पढ़ता है। उसने हमले के बाद फेसबुक वॉल पर जश्न मनाते कईं कमेंट किये। विवि ने शमशेर को बाहर कर दिया, बल्कि FIR भी दर्ज करा दी।
CRPF हमले पर जश्न मनाने वाले नपे, डेढ़ दर्जन को विश्वविद्यालयों ने निकाला, नौकरियां गईं 8
9. ममता बनर्जी के पश्चिम बंगाल में देबजीत भट्टाचार्जी ने बंगाली में कश्मीर में अलगाववादियों का सपोर्ट किया। देबजीत पर FIR दर्ज कर दी गयी है।
CRPF हमले पर जश्न मनाने वाले नपे, डेढ़ दर्जन को विश्वविद्यालयों ने निकाला, नौकरियां गईं 9
10. उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में रहने वाले मोहम्मद ओसामा ने शहीदों का अपमान किया। उसने पाकिस्तान का समर्थन किया। पुलिस ने ओसामा को तुरंत मामला दर्ज करते हुए गिरफ्तार कर लिया है।
CRPF हमले पर जश्न मनाने वाले नपे, डेढ़ दर्जन को विश्वविद्यालयों ने निकाला, नौकरियां गईं 10
11. देहरादून जिले की सुभारती यूनिवर्सिटी में स्टूडेंट राशिद ने पुलवामा हमले के बाद जश्न मनाने का स्टेट्स डाला था। उसकी शिकायत करने के बाद विवि ने तुरंत राशिद को निलंबित कर दिया है।
CRPF हमले पर जश्न मनाने वाले नपे, डेढ़ दर्जन को विश्वविद्यालयों ने निकाला, नौकरियां गईं 11
12. जम्मू के ही श्रीनगर के रियाज़ अहमद वानी पहले भी अपने फेसबुक पर आतंकियों के पक्ष में स्टेट्स डालता था। पुलवामा के बाद भी रियाज ने ऐसा ही स्टेट्स डाला। उसको भारी पड़ा। प्राइवेट कंपनी मैकलॉयड उसको नौकरी से बाहर कर दिया है।
CRPF हमले पर जश्न मनाने वाले नपे, डेढ़ दर्जन को विश्वविद्यालयों ने निकाला, नौकरियां गईं 12
13. बंगलुरू में नौकरी करने वाले कश्मीरी आबिद मलिक फिदायीन आतंकी आदिल मोहम्मद डार के पक्ष में स्टेट्स लिखा। उसने पुलवाला हमले के बाद जश्न भी मनाया। उसको बंगलुरू पुलिस ने देशद्रोह की धाराओं में केस दर्ज कर दबोचा गया है।
CRPF हमले पर जश्न मनाने वाले नपे, डेढ़ दर्जन को विश्वविद्यालयों ने निकाला, नौकरियां गईं 13
14. दिल्ली एनडीटीवी में निधि सेठी डिप्टी एडिटर है। उसने शहीदों पर तंज कसा। एनडीटीवी ने निधि को केवल 2 हफ्ते के लिए सस्पेंड कर जांच बिठा दी। इसपर निधि सेठी ने अपना फेसबुक अकाउंट डीलिट कर दिया।
CRPF हमले पर जश्न मनाने वाले नपे, डेढ़ दर्जन को विश्वविद्यालयों ने निकाला, नौकरियां गईं 14
15. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के रज़ाब ने फेसबुक-व्हाट्सअप पर पुलवामा पर खुशियां मनाने के पोस्ट डाले। उसको कॉलेज ने निष्कासित कर दिया है। रज़ाब पर एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है।
CRPF हमले पर जश्न मनाने वाले नपे, डेढ़ दर्जन को विश्वविद्यालयों ने निकाला, नौकरियां गईं 15
16. पंजाब के लुधियाना जिले में रहने वाले रईस खान ने अपनी फेसबुक वॉल पर सेना और अर्द्वसेनिक बलों को धमकी भरे पोस्ट डाले। उसकी भी पंजाब पुलिस उसकी खबर ले रही है।
CRPF हमले पर जश्न मनाने वाले नपे, डेढ़ दर्जन को विश्वविद्यालयों ने निकाला, नौकरियां गईं 16
ये तो मात्र उदाहरण हैं। और भी काफी नाम हैं, जिन्होंने एंटी-इंडिया पोस्ट लिखा है। इनके खिलाफ सोशल मीडिया पर शिकायत दर्ज कराने का काम किया जा रहा है।

साथ ही इस तरह के लोगों के खिलाफ संबंधित कंपनी को सूचित किया जा रहा है। सम्भवना है कि आने वाले दिनों में ये लिस्ट और लंबी हो सकती है।

देशद्रोहियों के खिलाफ चल रहे इस अभियान की खास बात यह है कि पहली बार हो रहा है, जब स्वतः ही लोग ऐसे गद्दारों के खिलाफ़ आवाजा उठाई जा रही है।