नागौर।

विधानसभा चुनाव मतगणना से पहले ही नागौर जिले से बुरी खबर आई है। नागौर के जिला निर्वाचन अधिकारी ने जो खेल खेला है, उससे शायद लोगों को चुनाव परिणाम और ईवीएम पर ही भरोसा नहीं रहे।

यहां पर कल जिले की विधानसभा में आने वाली सभी सीटों के लिए मतगणना की जाएगी, लेकिन मंगलवार को सुबह 8 बजे से होने वाली इस मतगणना की कवरेज से मीडिया को पूरी तरह दूर रखा गया है।

मतगणना यहां के बलदेवराम मिर्धा कॉलेज परिसर में होगी, किन्तु कवरेज करने वाले पत्रकारों को मतगणना स्थल पर प्रवेश की अनुमति नहीं दी गई है। मीडिया के तमाम प्रतिनिधियों को कॉलेज के बाहर रहना होगा। पत्रकारों के लिए मुख्य गेट के बाहर मीडिया सेन्टर बनाया गया है।

मतगणना स्थल पर सिर्फ सरकारी जन सम्पर्क अधिकारी और रेडियो उद्घोषणा करने वालों को एडमिशन मिलेगा। उनको सुनकर ही अखबार, टीवी समेत अन्य सभी पत्रकारों को मतगणना के परिणाम का कवरेज करना होगा।

यहां पर रिजल्ट देखने वाले पत्रकारों के कवरेज के दौरान मोबाइल और कैमरा बैन कर दिए गए हैं। हालांकि, उनको इन सब उपकरणों का उपयोग बाहर आकर करने की इजाज़त होगी, जिससे खबरों का प्रसारण काफी धीमी हो जाएगा।

जानकारी के मुताबिक यह निर्देश जिला निर्वाचन अधिकारी ने दिए हैं। नागौर कलेक्टर कुमारपाल गौतम जिला निर्वाचन अधिकारी हैं, जिनका इस फैसले के बाद सोशल मीडिया पर खूब मजाक उड़ाया जा रहा है। सियासी पार्टियों ने इसे गलत करार देते हुए मतगणना में गड़बड़ी की आशंका जताई है।

गौरतलब है कि राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल नागौर जिले के ही खींवसर विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे हैं, जिनकी लगातार तीसरी बार जीत का पूर्वानुमान लगाया जा रहा है।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।