नई दिल्ली
कांग्रेस पार्टी देश में केवल चार राज्यों में शासन में बची है। लेकिन बावजूद इसके कांग्रेस के बड़े नेताओं की बद्दजुबानी बंद होने का नाम नहीं ले रही है। कभी मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने रविवार को एक बयान देकर फिर से अपनी और पार्टी की किरकिरी करवा ली।

दिग्गी राजा के नाम से मशहूर पूर्व सांसद ने कहा कि बजरंग दल, विश्व हिंदू परिषद और भाजपा आईएसआई से फंड लेते हैं। एक बड़ी न्यूज एजेंसी के समक्ष दिये इस बयान के बाद दिग्गी राजा की भयानक थू थू हो रही है।

रविवार को दोपहर तक सोशल मीडिया पर उनको लाखों लोगों के गालियों से भरे कमेंट्स का सामना करना पड़ा। भाजपा ने कहा कि यह आदमी बची हुई कांग्रेस को भी खत्म् करके मानेगा। हालांकि, कांग्रेस पार्टी ने उनके बयान से एकदम किनारा कर लिया।

कांग्रेस ने कहा कि भाजपा या बजरंग दल आईएसआई से चंदा लेते हैं, तो इसका सबूत भी दिग्विजय सिंह ही देंगे। भाजपा ने पूछा था कि इसके सबूत कांग्रेस पार्टी और दिग्गी को देने चाहिये।

बताया जा रहा है कि भाजपा के मध्य प्रदेश से एक विधायक इस प्रकरण को लेकर दिग्गी पर एफआईआर भी दर्ज करवा चुके हैं। इससे पहले भी दिग्गी अपनी उल्टे सीधे बयानों से चर्चा में रह चुके हैं। तीन—चार साल पहले तक उनको राहुल गांधी का राजनीतिक गुरू माना जाता था।