university marksheet
university marksheet

जयपुर। राजस्थान विश्वविद्यालय तेजी से अपने परिणाम जारी करने में जुटा है।

जल्द से जल्द रिजल्ट जारी कर अगले चरण की तैयारी की जा रही है, लेकिन इसी तेजी के कारण गलतियों की भरमार भी सामने आ रही है।

विवि कहीं पर अनुपस्थित दिखा रहा है, तो कहीं पर सब्जेक्ट में फेल होने के बाद भी परिणाम में पास बता दिया गया है।

इस बीच बीते चार दिन से जनसंचार केंद्र को बंद करने को लेकर जारी गतिरोध भी टूट गया है।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा विवि के खिलाफ प्रदर्शन और धरना देने के बाद कुलपति प्रो आरके कोठारी ने विवि के ताजा प्रोस्पेक्ट में जनसंचार केंद्र के कोर्स शामिल कर प्रोस्पेक्ट का विमोचन भी कर दिया है।

इसका मतलब यह है कि अब यह केंद्र कम से कम इस साल बंद नहीं होगा।

परिषद की ओर से किए गए जोरदार प्रदर्शन और धरने में विवि सज्जन सैनी, अमित बड़बड़वाल, हुश्यार सिंह मीणा, रामकेश मीणा, नितिन शर्मा, विजेंद्र महवा समेत बड़ी संख्या में कार्यकर्ता शामिल रहे।

तीन कॉलेजों को रोक दिया परिणाम

विवि ने परिणाम जारी करने की कड़ी में तीन निजी कॉलेजों के परिणाम पर रोक लगा दी है।

बताया जा रहा है कि कॉलेजों और विवि के बीच जारी किसी गतिरोध के कारण ऐसा किया गया है।

लेकिन सवाल यह उठता है कि कॉलेज या विवि की गलती का भुगतान छात्र क्यों करें?

फेल को भी कर दिया पास

विवि ने करामात करते हुए जो छात्र फेल हो गए, उनको भी उर्तीण दिखाकर मार्कशीट जारी कर दी है।

इतना ही नहीं, जो छात्र तीनों विषयों की परीक्षा दे चुके हैं, उनको अनुपस्थित बताया गया है।

हजारों की संख्या में शिकायतों के बाद भी विवि इस दिशा में कोई कदम नहीं उठा रहा है।