Ashok gehlot in nagaur
Ashok gehlot addressing rally

Jaipur news.

राजस्थान के लाखों शिक्षक बिना वेतन के होली का त्यौहार मनाएंगे। शिक्षकों को फरवरी माह का वेतन नहीं मिला है, जिसके कारण होली का त्यौहार बिना वेतन के मनाने पर मजबूर हैं।

राज्य में शिक्षकों को दो अलग-अलग वेतन हैड में बांट रखा है। हज़ारों शिक्षकों गत दो से तीन माह से वेतन नहीं मिल पा रहा है।

कुछ हैड में बजट गत 6 माह से नहीं आने के कारण दीपावली के बाद से ही शिक्षक लगातार वेतन के लिए जूझ रहे हैं।

राजस्थान प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष विपिन प्रकाश शर्मा का कहना वेतन के अभाव में शिक्षकों की स्थिति दयनीय हो रही है।

उन्होंने बताया कि बैकों से लिए गए लोन की ईएमआई की किस्त पर पेलन्टी लग रही हैै। सगठन ने कुछ समय पूर्व वेतन नहीं मिलने पर मीडिया के माध्यम से उच्च अधिकारियो के समक्ष वेतन नहीं मिलने का मुद्दा उठाया था।

तब कुछ बैजट हैड में बजट दे दिया गया, लेकिन बिल बनकर ट्रेजरी गए तब तक बजट वापस विड्रा कर अन्य में शिफ्ट कर दिया गया। अब शिक्षक वेतन से महरूफ रह गये थे।

शर्मा का कहना है कि शिक्षकों को वेतन केन्द्र हैड और राज्य हैड से मिलता है। केन्द्र हैड से समय पर पैसा नहीं मिल पा रहा है कि इसके चलते खामियाजा शिक्षकों को भुगतना पड रहा है।

संगठन प्रदेश प्रदेश मन्त्री अजनी शर्मा ने बताया हमने मुख्यमन्त्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर कर्मचारियों का वेतन समय पर दिलाने की मांग की है।

गंभीर रोग से ग्रसित शिक्षकों के मेडिकल बिलों का भी भुगतान शीध्र कराने की मांग की है। गौरतलब है कि अप्रेल में वेतन सरकार के आदेशनुसार देरी से मिलगा।