29 C
Jaipur
शनिवार, सितम्बर 19, 2020

लोगों की जान सबसे महत्वपूर्ण मानवाधिकार है

- Advertisement -
- Advertisement -

बीजिंग, 11 सितम्बर (आईएएनएस)। अमेरिकी पत्रिका टाइम्स के ताजा अंक का आवरण-पृष्ठ काफी अलग है। काली पृष्ठभूमि पर एक के बाद एक संख्या लिखी हुई हैं, जो सब 29 फरवरी से 8 सितंबर तक अमेरिका में हर दिन कोविड-19 से मरने वालों की संख्या है। अंत में एक चौंकाने वाली संख्या सामने आई 200,000 । आवरण-पृष्ठ पर सिर्फ तीन लाल अक्षर हैं, लिखा हुआ है एक अमेरिकी विफलता। टाइम्स के ताजा अंक से हम निराशा महसूस कर सकते हैं, क्योंकि मौत अभी भी जारी है।

अमेरिकी जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के आंकड़ों के अनुसार, 10 सितंबर तक अमेरिका में कोविड-19 के पुष्ट मामलों की कुल संख्या 63.9 लाख से अधिक है और मौत के मामलों की संख्या 1.9 लाख से ज्यादा है। टाइम्स के मुख्य संपादक एडवर्ड फेल्संथल ने कहा कि अमेरिका शीघ्र ही मील का पत्थर बनाएगा, जहां 2 लाख लोग कोविड-19 महामारी की वजह से मर जाएंगे।

यह संख्या कितनी बड़ी है? यह वियतनाम युद्ध में मारे गये अमेरिकी लोगों की संख्या का तीन गुना है, जो यूटा स्टेट के साल्ट लेक सिटी की कुल जनसंख्या के बराबर है। यह क्या बताता है? सचमुच अमेरिका की विफलता है। हम जानते हैं अमेरिका में 29 फरवरी को मौत का पहला मामला आया था, फिर मई में संख्या 1 लाख तक जा पहुंची और अब 2 लाख पहुंच रही है। तथ्यों से साबित हुआ है कि कुंजीभूत समय में सख्त कदम दयालुता है, जबकि विज्ञान के अनादर से भारी कीमत चुकानी पड़ती है। अमेरिका ने बारंबार दावा किया कि वो खुद मानवाधिकार का रक्षक है, लेकिन मानवाधिकार क्या है? लोगों की जान सबसे महत्वपूर्ण मानवाधिकार ही है।

दुनिया में अमेरिका का चिकित्सा प्रौद्योगिकी सबसे आधुनिक है, इसके बावजूद महामारी की स्थिति इतनी गंभीर बनी हुई है। यह समझने में मुश्किल है और सोच-विचार करने का विषय है। अमेरिका एक शक्तिशाली देश है, लेकिन 21वीं शताबदी में इतनी दु:खद मृत्य हुई, जो बोलने के लिए शब्द नहीं है। सभी विकसित देशों में सिर्फ अमेरिका में महामारी की स्थिति नियंत्रण से बाहर हो गयी है। हम सच्चे दिल से आशा करते हैं कि टाइम्स का आवरण-पृष्ठ इन लोगों को जागृत करेगा, जो आपदा से शिथिल हैं। विज्ञान और बुनियादी ज्ञान का सम्मान करने पर ही अमेरिका वर्तमान संकट का मुकाबला कर सकेगा।

(साभार—चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

— आईएएनएस

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
लोगों की जान सबसे महत्वपूर्ण मानवाधिकार है 2
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

गोरखालैंड मुद्दे का जल्द समाधान करे सरकार : भाजपा सांसद बिष्ट

नई दिल्ली, 19 सितंबर(आईएएनएस)। दार्जिलिंग के पर्वतीय क्षेत्र को लेकर पश्चिम बंगाल से अलग गोरखालैंड राज्य के गठन की मांग शनिवार को लोकसभा में...
- Advertisement -

अगर एक ही पत्रकार बार-बार सवाल करेगा तो मैं जवाब नहीं दूंगा : विजयन

तिरुवनंतपुरम, 19 सितंबर (आईएएनएस)। केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन पत्रकारों के चुभते सवालों से असहज हो जाते हैं, यह सबको पता है, लेकिन शनिवार...

कोरोना काल में एसएमएस मानदंडों का पालन करें : सतीश पुनिया

जयपुर, 19 सितंबर (आईएएनएस)। राजस्थान भाजपा अध्यक्ष सतीश पुनिया ने शनिवार को कहा कि इस कोरोना काल में एसएमएस मानदंडों का पालन करना चाहिए।...

जम्मू-कश्मीर में कोरोना के 1,492 नए मामले, संख्या 62,533 हुई

श्रीनगर, 19 सितंबर (आईएएनएस)। जम्मू-कश्मीर में शनिवार को पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोनावायरस जांच रिपोर्ट में 1,492 नए लोगों को पॉजिटिव पाया गया,...

Related news

पिंकी प्रधान आशिक की तीसरी पत्नी बनने से पहले एक साल लिव इन रिलेशनशिप में रही!

बाड़मेर। 'पिंकी प्रधान' उर्फ समदड़ी पंचायत समिति प्रधान पिंकी चौधरी अपने आशिक अशोक चौधरी की तीसरी पत्नी बनने से पहले एक साल...

पिंकी चौधरी भागने वाली लड़कियों की रोल मॉडल बनी, चार लड़कियों ने ली प्रेरणा और प्रेमियों के साथ भाग गईं

बाड़मेर/टोंक। पिछले महीने बाड़मेर के समदड़ी पंचायत समिति की प्रधान पिंकी चौधरी के घर से भागने और आपने प्रेमी अशोक चौधरी के...

बाड़मेर: लड़की भगा ले गया शिक्षक, मिलते ही घरवालों ने किया ऐसा हाल

बाड़मेर। राजस्थान के सीमावर्ती जिले बाड़मेर में एक स्कूल के अध्यापक पर जानलेवा हमले और नाक व दोनों कान काटने की घटना सामने...

किसानों को बहकाने और बरगलाने का काम कर रहे कांग्रेस-वामपंथी दल

-मोदी सरकार के तीनों ही विधेयक क्रांतिकारी हैं, किसान को मिलेगी तरक्की, मजबूती और ताकत। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने हमेशा किसानों,...
- Advertisement -