नई दिल्ली।

बॉलीवुड के फिल्मी सितारे सनी देओल राजनीति में कदम रखने जा रहे हैं। संभवत लोकसभा चुनाव 2019 में ही सनी देओल को अमृतसर या पंजाब के किसी दूसरे जिले से चुनावी मैदान में उतारा जा सकता है।

बीते कई दिनों से सनी देओल को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने गंभीरता दिखाई है। पार्टी की तरफ से सनी देओल को पार्टी में शामिल कर उनको चुनाव लड़ने के लिए आमंत्रित किया जा रहा है।

एक दिन पहले ही एक फोटो वायरल हुई है, जिसमें भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह सनी देओल से मिलने पहुंचे। जानकारी मिली है कि उन्होंने सनी देओल को चुनाव लड़ने के लिए मना लिया है।

इससे पहले सनी देओल के पंजाब की ही पाकिस्तानी सीमा से लगती हुई गुरदासपुर सीट से चुनाव लड़ने की चर्चाएं हुई थी। आपको बता दें कि गुरदासपुर सीट बीजेपी के नेता और अभिनेता विनोद खन्ना की सीट रही है।

यहां पर विनोद खन्ना लगातार कई बार लोकसभा चुनाव जीते हैं। बीते साल विनोद खन्ना का निधन हो गया था। इसके बाद से ही इस सीट के लिए योग्य उम्मीदवार की तलाश की जा रही थी।

हालांकि स्थानीय नेताओं ने दावेदारी जताई है, लेकिन पार्टी का प्रयास है कि एक बार फिर से यह सीट किसी अभिनेता के लिए सुरक्षित कर दी जाए।

सनी देओल का परिवार पंजाब से आता है, इसलिए उनकी पंजाब में बहुत आदर और सम्मान है। इसी को ध्यान में रखते हुए भारतीय जनता पार्टी ने सनी देओल का कार्ड खेलने का प्रयास शुरू किया है।

बताया जा रहा है कि गुरदासपुर सीट से सनी देओल के इंकार के बाद उनको अमृतसर से चुनाव लड़ाने के लिए राजी किया गया है। देखना होगा कि सनी देओल चुनाव लड़ते हैं या अपने फिल्मी करियर में ही अभी मग्न रहते हैं?

उल्लेखनीय यह भी है कि सनी देओल के पिता धर्मेंद्र राजस्थान के बीकानेर से 2004 में लोकसभा का चुनाव लड़ चुके हैं। उन्होंने यहां पर 5 साल लोकसभा सांसद रहने का गौरव हासिल किया था। उसके बाद 2009 में यह सीट रिजर्व हो गई और धर्मेंद्र ने भी राजनीति से संयास ले लिया।

इसके साथ ही धर्मेंद्र की पत्नी और सनी देओल की सौतेली मां हेमा मालिनी भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर लगातार दूसरी बार मथुरा से उम्मीदवार हैं। पिछली बार उन्होंने रिकॉर्ड तोड़ मतों से जीत हासिल की थी।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।