पाकिस्तान में मोदी का जलवा, पाई-पाई को मोहताज हुई पाक टीम अब ऐसे काम कर जीवन यापन करेगी

नई दिल्ली

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जलवा पाकिस्तान में भी जमकर चल रहा है। हालात यह हो गए हैं कि पाकिस्तान की क्रिकेट टीम पाई पाई को मोहताज हो गई है और जीवन यापन करने के लिए दूसरे हथकंडे अपनाए जा रहे हैं।

संबंध सुधारने की पहल को माना कमजोरी

आपको बता दें कि 2014 में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली बार प्रधानमंत्री बने थे, तब उन्होंने पड़ोसी देशों के साथ मधुर संबंध बनाने के लिए पाकिस्तान, चीन, बांग्लादेश, नेपाल और श्रीलंका के साथ विशेष प्रयास करें दोस्ती बढ़ाने का काम किया था।

विकासवाद को नहीं माना पाकिस्तान

लेकिन अपनी हरकतों से मजबूर पाकिस्तान नरेंद्र मोदी की दोस्ती को स्वीकार नहीं कर पाया और तब नरेंद्र मोदी के द्वारा विकासवाद के रास्ते पर चलने की अपील को पाकिस्तान ने ठुकरा दिया था।

इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान को परोक्ष रूप से भी और प्रत्यक्ष रूप से भी कंगाल करने का मन बना लिया। पिछले 6 साल के दौरान प्रधानमंत्री ने पाकिस्तान को दुनिया भर में बुरी तरह से बदनाम कर दिया।

तब के कप्तान ने किया बर्बाद

इसका नतीजा यह हुआ कि आज पाकिस्तान को विश्व बैंक के सिवाय कोई भी कर्ज देने को तैयार नहीं है। मजेदार बात यह है कि पाकिस्तान की क्रिकेट टीम की जिस टीम ने 1992 में पाक के वर्तमान प्रधानमंत्री इमरान खान की कप्तानी में विश्व कप जीता था, आज उसी क्रिकेट टीम को पाई-पाई के लिए मोहताज होना पड़ रहा है।

शाहिद अफरीदी फाउंडेशन दे रहा है जर्सी

पाकिस्तान टीम की हालत यह है की उनको कपड़े पहनने के लिए भी कोई कंपनी स्पॉन्सर नहीं कर रही। स्थिति इस कदर खराब हो चुकी है कि पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी फाउंडेशन की तरफ से पूरी क्रिकेट टीम के लिए जर्सी उपलब्ध करवाई गई है।

यह भी पढ़ें :  भारतीय वायुसेना का खौफ: Black Out पाकिस्तान, खलबली में एडवायजरी जारी