nationaldunia

-किसानों से बीज तैयार करने के बाद खरीद नहीं कर पाने का आरोप

जयपुर।

तीन साल पहले गड़बड़ियों के चलते सुर्खियों में रहा राजस्थान सरकार का बीज निगम एक बार फिर से किसानों को धोखा देने में कामयाब हो गया है।

बीज निगम में अधिकारिक सूत्रों का दावा है कि जितने किसानों से बीज तैयार करवाया गया था, उसके मुकाबले काफी कम खरीद की गई है।

जिसके चलते बीज तैयार करने वाले किसान खुद का ठगा सा महसूस कर रहे हैं, और उनकी लागत नहीं निकलने के कारण कईयों को कर्जा लेना पड़ा है।

जानकारी में आया है कि बीज निगम द्वारा प्रदेश के विभिन्न जिलों में अलग-अलग फसलों के बीज तैयार करवाए जाते हैं।

यह बीज उन्नत किस्म का होता है, जिसको बाद में प्रदेशभर में सीड कॉरपोरशन के द्वारा किसानों को वितरित किया जाता है।

लेकिन इस बार बीज निगम ने तैयार पूरे बीज को नहीं खरीदा। इसके चलते गेंहू, जो, चना, सरसों और इसके साथ ही प्याज की उन्नत किस्म के बीज किसानों को ओने-पोने दामों में बेचने पड़ रहे हैं।

बीज निगम की निदेशक अनुप्रेरण कुंतल से जब इस बारे में बात की गई तो उन्होंने पहले सवाल सुना, लेकिन बिना जवाब दिए ही फोन काट दिया और फिर फोन पिक ही नहीं किया।