सोनोग्राफी सेंटर संचालक सहित दो झोलाछाप व एक नर्स को पकड़ा

21
nationaldunia
- Advertisement - dr. rajvendra chaudhary

-पंजाब के जलालाबाद में हुआ डिकॉय आॅपरेशन

जयपुर। राज्य पीसीपीएनडीटी टीम ने भ्रूण लिंग जांच मामले के एक बड़े रैकेट का खुलासा किया है। यह रैकेट राजस्थान व पंजाब में लंबे अर्से से घिनौना कृत्य कर रहे था।

एक इंटरस्टेट डिकॉय कार्रवाई में राजस्थान के एक झोलाछाप, पंजाब के झोलाछाप व नर्स सहित सोनोग्राफी सेंटर संचालक को गिरफ्तार किया है। साथ ही सोनोग्राफी मशीन को सीज कर सभी कागजात जब्त किए हैं।

उल्लेखनीय है कि दल द्वारा पंजाब में 5वां, डिकॉय आॅपरेशन है। पीसीपीएनडी ने अब तक 38 इंटरस्टेट सहित कुल 132 डिकॉय कार्यवाही की जा चुकी है।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एवं परियोजना निदेशक पीसीपीएनडीटी शिल्पा चौधरी ने बताया कि श्रीगंगानगर में आस-पास के गांवों में दलालों के सक्रिय होने और राजस्थान व सीमावर्ती राज्यों में भ्रूण लिंग जांच करने वाले लोगों की शिकायतें मिल रही थीं।

इस संबंध में दलाल के संबंध में मुखबिर के जरिए श्रीगंगानगर टीम को मिली, जिसकी पुष्टि करने पर पता चला कि दलाल श्रीगंगानगर व पड़ोसी राज्यों में गर्भवती महिलाओं को ले जाकर भ्रूण लिंग जांच करवाते हैं।

टीम ने लगातार निगरानी करते हुए मुखबिर के जरिए दलाल सागरवाला निवासी त्रिलोक पुत्र गुरुदयाल सिंह जाति अरोड़ा से संपर्क साधा। जिस पर उसने पहले बुधवार और उसके बाद गुरुवार को जिला मुख्यालय पर बुलाया।

दलाल ने भ्रूण लिंग जांच करवाने की एवज में 40 हजार रुपए मांगे और गर्भपात करवाने के अलग से रुपए लगने की बात कही। इसके बाद दलाल गर्भवती महिला को लेकर अबोहर पहुंचा, जहां दूसरा दलाल झोलाछाप सुनील पुत्र भजनलाल मिला।

फिर महिला को जलालाबाद ले गए। वहां तीसरी दलाल 30 वर्षीय मनजीत कौर मिली और गर्भवती महिला को वहां मुख्य बाजार स्थित प्रीत नर्सिंग होम में ले गई।

चौधरी ने बताया कि सोनोग्राफी सेंटर में गर्भवती महिला की जांच की और भ्रूण के लिंग की जानकारी दी। गर्भवती महिला द्वारा इशारा देने पर टीम मौके पर पहुंची और सेंटर की जांच की।

इस दौरान दलाल मनजीत कौर, त्रिलोक व सुनील कुमार सहित सोनोग्राफी सेंटर संचालक 66 वर्षीय डॉक्टर अमरजीत सिंह पुत्र बख्त सिंह को गिरफ्तार कर लिया।

मौके का फायदा उठाकर चिकित्सक हरप्रीत कौर ठक्कर फरार हो गई, जिसकी सूचना नजदीकी थाने में दी गई और तलाश जारी है।

उन्होंने बताया कि प्रदेश में पीसीपीएनडीटी कानून के प्रभावी क्रियान्विति के साथ ही आमजन को बेटी बचाओ अभियान से जोड़ने एवं बेटियां अनमोल हैं का संदेश प्रसारित करने के लिए डाटर्स आर प्रीशियस अभियान भी संचालित किया जा रहा है।

गत 7, 14 एवं 25 सितम्बर को 7124 स्थानों पर आयोजित बेटी पंचायत में अब तक कुल 6 लाख 40 हजार 129 लोगों को बेटियां अनमोल हैं का संदेश दिया गया है। इस माह में बेटी पंचायत जन-जागृति अभियान का अंतिम चरण 28 सितम्बर को आयोजित किया जाएगा।

देश की राजनीतिक खबरें NATIONALDUNIA पर पढ़ें। देश भर की अन्य खबरों के ल‍िए बने रह‍िए WWW.NATIONALDUNIA.COM के साथ। देश और दुन‍िया की सभी खबरों की ताजा अपडेट के ल‍िए जुड़िए हमारे FACEBOOK पेज से। हमें आर्थिक मदद पेटीएम नंबर 9828999333 पर करें।