लखनउ।

12 जिलों की मजिस्ट्रेट रहते हुए आईएएस बी चंद्रकला द्वारा अवैध खनन पट्टे जारी किए जाने का मामला अब दूर संसद तक सुनाई दे रहा है। संसद में भी अब पार्टियां खुद को बचाने में लगी हैं।

सपा के पूर्व नेता अमर सिंह ने दावा किया है कि समाजवादी पार्टी के संस्थापक और संरक्षक मुलायम सिंह यादव के द्वारा यूं ही नरेंद्र मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनाने की कामना नहीं की थी, उसके पीछे एक लंबी राजनीति ​थी।

अमर सिंह के हवाले से बताया जा रहा है कि सीबीआई, पर्वतन निदेशालय समेत तमाम जांच ऐजेसिंयों की नजरें पूर्व सीएम अखिलेश यादव और उनके साथ मंत्री रहे आजम खान भी लपेटे में हैं।

सियासी जानकारों का कहना है कि बरसों से सियासत के बेताज बादशाह रहे मुलायम ने यूं ही मोदी के पीएम बनने की कामना नहीं की थी, बल्कि इन सब को सीबीआई से बचाने के लिए यह कथन कहा था।

बकौल अमर सिंह, ‘सोनिया गांधी के बगल में खड़े रहकर कोई भी नेता धुर विरोधी नरेंद्र मोदी को फिर से पीएम बनाने की कामना करने की हिमाकत नहीं कर सकता।’

खैर! सीबीआई के सूत्रों द्वारा बताया यह जा रहा है कि बी चंद्रकला को अखिलेश सरकार का पूरा बदहस्त था, जिसके चलते करोड़ों रुपए के खान घोटाले को अंजाम दिया गया।

अब मुलायम सिंह यादव किसी भी तरह से अपने बेटे और पुराने साथी को बचाने के लिए यह बयानबाजी कर रहे हैं। इस बात का दावा भी अमर सिंह ने किया है।

Leave a Reply