new delhi

गुरदासपुर के सांसद और फिल्म स्टार सनी देओल, शाहरूख खान और जूही चावला की फिल्म ‘डर’ आपको याद होगी। फिल्म में किस तरह से हीरो को विलेन से कमतर दिखाया गया था।

इस फिल्म के बाद सनी देओल और शाहरूख खान ने कभी साथ काम नहीं किया। वजह शायद किसी को पता नहीं थी,​ किंतु पिछले दिनों इंडिया टीवी के साथ बात करते हुए सनी देओल ने खुलासा किया।

याद दिला दें कि उस फिल्म के वक्त ओर जहां शाहरुख खान के करियर को उड़ान मिली, वहीं बॉलीवुड में स्टार बन चुके सनी देओल को धोखा भी मिला।

यश चौपड़ा कि इस फिल्म ने स्टार सनी देओल और शाहरूख खान के बीच हमेशा के लिए दीवार खड़ी कर दी। फिल्म के बाद सनी देओल ने शाहरुख खान से अगले 16 साल तक बात नहीं की।

टीवी के शो में सनी देओल ने खुद 25 साल बाद उस घटना को याद करते हुए बताया कि उन्होंने फिल्म के बाद 16 साल तक शाहरुख से बात नहीं की। सनी ने बताया कि ‘ऐसा नहीं है कि शाहरूख खान से बात नहीं की, किंतु मैंने खुद को ऐसे लोगों से दूरी बना ली थी, इसलिए शाहरूख से कभी बात करने का अवसर ही नहीं आया।

सनी देओल ने बताया कि उस फिल्म में दर्शकों ने उनको भी पसंद किया था। शाहरुख खान को भी जनता ने पसंद किया। किंतु उस फिल्म के साथ बस इतनी दिक्कत थी, कि उनको यह नहीं बताया गया था कि विलन को इतना ज्यादा अहमियत के साथ दिखाया जाएगा।

सनी देओल ने कहा कि वह फिल्मों में हमेशा विश्वास और खुले दिल से काम करने का काम करते हैं, किंतु दुर्भाग्यवश से बॉलीवुड में ऐसे कई लोग और अभिनेता भी हैं, जो ऐसे ईमानदारी से काम नहीं करते, शायद वो ऐसे ही झूठ के सहारे स्टारडम चाहते हैं।

गौरतलब है कि तब सनी देओल बॉलीवुड में बड़े स्टार थे। फिल्म के निर्माता—निर्देशक यश चोपड़ा ने उनको फिल्म का यह ऑफर दिया था, कि वह फिल्म के राहुल मेहरा और सुनील मल्होत्रा में से जो भी चाहे, वह किरदार चुन सकते हैं।

स्टार सनी देओल को लगा कि उनके लिए हीरो बने सुनील मल्होत्रा का सकारात्मक किरदार ही सही रहेगा। जिसके चलते उन्होंने सुनील मल्होत्रा वाला किरदार करना पंसद किया।

इससे पहले दिए गए एक साक्षात्कार में सनी देओल ने खुलासा कतरे हुए कहा था कि, फिल्म ‘डर’ जब बनाई जा रही थी, तब यश चौपड़ा के द्वारा उनको इस बारे में नहीं बताया गया था कि फिल्म में विलेन का रोल हीरो भी ज्यादा भारी बताया जाएगा।

फिल्म का अंत ऐसा होगा, यह चीज सनी देओल को पता नहीं थी। सनी देओल ने बताया कि उनको अंदाजा नहीं था कि धोखा होगा, इस बात से वह हैरान रह गए। उसी झूठ की वजह से उन्होंने कभी यशराज चौपड़ा के साथ काम नहीं किया।