journalist gopal sharma

जयपुर।

राजस्थान में लोकसभा चुनाव के लिए धीरे-धीरे माहौल तैयार हो रहा है। आम चुनाव के लिए प्रत्याशी तैयारी में जुटे हुए हैं। राज्य के वरिष्ठ पत्रकार गोपाल शर्मा ने भी जयपुर शहर लोकसभा से दावेदारी जता दी है। शर्मा ने सामाजिक समरसता के बहाने सियासत में विधिवत शंखनाद कर दिया।

पत्रकारों से बात करते हुए जानेमाने पत्रकार गोपाल शर्मा ने कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी दी। एक सवाल के जवाब में पत्रकार गोपाल शर्मा ने बताया कि जयपुर शहर की लोकसभा टिकट की दावेदारी के लिए पार्टी में विचार प्रकट कर दिए हैं। उन्होंने बताया कि यदि पार्टी उनको कोई जिम्मेदारी देना उचित समझती है तो वह उसको सहर्ष स्वीकार करेंगे।

उन्होंने बताया कि इस जिम्मेदारी को पूरी तन्मयता से उठाने के लिए जयपुर के कई सामाजिक संगठनों से भी बातचीत की है। जिसमें सभी धर्म, वर्ग और जातियों के लोगों ने सकारात्मक दिखाई है।

किसी अन्य पार्टी द्वारा उनको टिकट देने की स्थिति में चुनाव लड़ने की बात को सिरे से नकारते हुए गोपाल शर्मा ने कहा कि उनकी प्रतिबद्धता हमेशा से ही बीजेपी के प्रति रही है, वैचारिक रूप से भी उनका अन्य किसी दल के साथ तालमेल नहीं बैठता है, ऐसे में किसी दूसरी पार्टी से वह चुनाव नहीं लड़ेंगे।

लंबा अनुभव है पत्रकारिता का

आपको बता दें कि राजस्थान के जयपुर में ही रहने वाले सीनियर जर्नलिस्ट गोपाल शर्मा का करीब 3 दशक का एक पत्रकार के रूप में सफर रहा है। इस दौरान उन्होंने तकरीबन हर क्षेत्र में रिपोर्टिंग की है। देश के जानेमाने पत्रकारों में उनका नाम आता है।

राष्ट्रीय एकता का शंखनाद जयपुर करेगा

उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि जयपुर में स्थित रामलीला मैदान में 3 मार्च को दोपहर 2:00 बजे से सामाजिक समरसता सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। इस अवसर पर शहीद, क्रांतिकारी परिवार, संत-महंत, व्यापारी, उद्यमी, सामाजिक संगठनों के गणमान्य नागरिक शामिल होंगे।

सम्मेलन के जरिए कोशिश होगी कि समाज के हर वर्ग के लिए ऐसा आधुनिक जयपुर बने, जहां आदमी का स्वाभिमान और सम्मान सुरक्षित हो, जनता को महसूस हो कि लोकतंत्र की वह भाग्य विधाता है, और उसका अपना वजूद है।

सम्मेलन की तैयारियों को अंतिम रुप दिया जा रहा है। शिवरात्रि की पूर्व संध्या पर होने वाले सम्मेलन में सुबह 11:00 से 2:00 बजे तक धार्मिकता से ओतप्रोत कई आयोजन होंगे।

इसमें पंचकुंडीय रक्षाशक्ति, गायत्री महायज्ञ, कलश यात्रा, श्यामप्रभु का साक्षात दरबार, वेदपाठ, प्रमुख है। युद्ध के शहीदों की आत्मा की शांति के लिए विशेष मंत्रों से बहुत याद की जाएगी।

इसमें पुलवाला के शहीद, जिनमें जयपुर जिले के शहीदों के परिजन शामिल होंगे। इस मौके पर आयोजित तिरंगा यात्रा निकाली जाएगी, जिसका नेतृत्व भारत के अमर शहीद अशफाकउल्ला खान के पुत्र अशफाकउल्ला खान करेंगे। यह यात्रा अल्बर्ट हॉल के सामने से रवाना होकर रामलीला मैदान पहुंचेगी।

काशी विश्वनाथ का प्रसाद गंगाजल

सम्मेलन में महाशिवरात्रि की पूर्व संध्या पर विश्व प्रसिद्ध मंदिर काशी विश्वनाथ को अर्पित किया हुआ रुद्राक्ष, प्रसाद, बिल्वपत्र और गंगाजल जयपुर के श्रद्धालुओं को उपलब्ध होगा। यह प्रसाद काशी विश्वनाथ मंदिर के महंत डॉ कुलपति तिवारी के सानिध्य में प्रदान किया जाएगा।

रामलीला मैदान में विराजेंगे श्याम प्रभु

समरसता सम्मेलन में श्याम प्रभु का साक्षात दरबार आकर्षण का केंद्र रहेगा। श्रीश्याम सत्संग मंडल संस्था कमेटियों का खुर्रा, रामगंज बाजार की सेवाभावी श्यामसेवाक खाटूनरेश के दरबार को मूर्त रूप देंगे। मंडल के अध्यक्षों का खुर्रा स्थित श्रीश्याम प्राचीन मंदिर के महंत के मार्गदर्शन में समरसता सम्मेलन का आयोजन होगा।

समरसता सम्मेलन के अंतर्गत चौड़ा रास्ता स्थित तारकेश्वर जी मंदिर से दोपहर 1:00 बजे भव्य कलश यात्रा निकाली जाएगी। महिलाएं त्याग के प्रतीक भगवा और शक्ति के प्रतीक लाल रंग की साड़ी में कलश लेकर चलेंगी। इस कलश यात्रा में मातृशक्ति मंगल गीत भी गाती हुई चलेंगे।