-राष्ट्रीयता के बिना राष्ट्र की रक्षा संभव नहीं- गोपाल शर्मा
जयपुर।

संभवत अप्रैल में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर देशभर में सभी राजनीतिक पार्टियां अपने अपने तरीके से चुनाव जीतने के प्रयास में जुटी हुई हैं।

उम्मीद है कि अगले सप्ताह में चुनाव आयोग द्वारा आम चुनाव की तारीख तय कर दी जाएगी। इसके साथ ही आचार संहिता लागू हो जाएगी। उससे पहले सभी राजनीतिक दलों में टिकट के जुगाड़ के लिए उम्मीदवार दम लगाने में जुटे हुए हैं।

इसी क्रम में रविवार को वरिष्ठ पत्रकार गोपाल शर्मा ने जयपुर के रामलीला मैदान में समरसता सम्मेलन के बहाने जयपुर शहर लोकसभा सीट से टिकट के लिए शक्ति प्रदर्शन किया।

रामलीला मैदान सामाजिक समरसता सम्मेलन सर्व समाज के आशीर्वाद का अपूर्व संगम बन गया। समरसता सम्मेलन मेंं शहीद क्रांतिकारी, संत महंतों, व्यापारी -उद्यमियों, मातृशक्ति व सर्व समाजों का अपूर्व संगम देखने को मिला।

सम्मेलन का आकर्षण ताडकेश्वर मंदिर से रामलीला मैदान तक पहुंची मातृशक्ति की विशाल कलशयात्रा और अल्बर्ट हॉल से रामलीला मैदान तक आई तिरंगा यात्रा रहे।

इस अवसर पर मुख्य वक्ता वरिष्ठ पत्रकार गोपाल शर्मा ने पुलवामा के शहीदों का स्मरण करते हुए कहा कि राष्ट्रीयता के जज्बे के बिना राष्ट्र की रक्षा संभव नहीं है, और भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नापाक पाक के मंसूबोंं पर पानी फेरते हुए पाकिस्तान को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया है।

लोकसभा टिकट के लिए वरिष्ठ पत्रकार गोपाल शर्मा का जयपुर में शक्ति प्रदर्शन 1

इस अवसर पर मुख्य वक्ता गोपाल शर्मा ने कहा कि आरएसएस से वह बचपन से जुड़े हुए हैं, एवं जयपुर उनकी रग रग में रचा बसा है। उन्होंने कहा कि छोटी काशी से अनेक राजनीतिज्ञों ने देशसेवा की है, किन्तु अब तक जयपुर को वो मुकाम नहीं मिल सका है जो मिलना चाहिए था।

आज भी ये प्रश्र हम सबके सामने है कि जयपुर की कच्ची बस्तियां सुविधाओं को क्यों तरस रही हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के रूप में सशक्त नेतृत्व वाले पीएम नरेन्द्र मोदी को ही गरीब बस्तियों तक गैस का चूल्हा पहुंचाने के बारे में क्यों सोचना पडता है।

उन्होंने सवाल उठाते कहा कि जयपुर आज तक शिक्षा हब क्यों नहीं बन सका है। अब तक के कमजोर इच्छाशक्ति वाले राजनीतिज्ञों के कारण आईआईएम व आईआईटी जैसे मानक संस्थान जयपुर को क्यों नहीं मिल सके हैं। इसलिए अब समय आ गया है जब जयपुर को सक्षम नेतृत्व चाहिए।

इस अवसर पर देश की स्वाधीनता संग्राम में अपना अमिट योगदान देने वाले अफशाक उल्ला खान के पौत्र अफशाक उल्ला खान ने कहा कि अफशााक उल्ला खान व रामप्रसाद बिस्मिल ने देश की स्वाधीन बनाने में अमिट योगदान दिया। उन्हें फ्रख है कि वह ऐसे मंच पर हैं जहां पुलवामा के शहीदों का सम्मान हो रहा है।

उन्होंने कहा कि गोपाल शर्मा की राष्ट्रीयता की भावना का आदर किया जाना चाहिए। काशी विश्वनाथ मंदिर के महंत डॉ. कुलपति तिवारी ने कहा कि पुलवामा के शहीदों की आत्मा को काशी विश्वनाथ के परमशिव शांति प्रदान करें और गोपाल शर्मा जैसा नेतृत्व जयपुर की जनता को मिले।

रामलीला मैदान उस पल का गवाह बन गया, जब रामलीला मैदान में सम्मेलन में यज्ञ किया गया एवं पुलवामा के शहीदों की आत्मा की शांति के लिए विशेष मंत्रों से आहुतियां दी गई और पंचकुंडीय राष्ट्ररक्षा शक्ति संवर्धन गायत्री महायज्ञ, विशाल कलशयात्रा, श्यामप्रभु का साक्षात दरबार का दरबार सजा।

लोकसभा चुनाव में प्रत्याशी बनाने का आह्वान
समरसता सम्मेलन में ब्राह्मण समाज के वरिष्ठ नेता पं. नटवरलाल शर्मा ने कार्यक्रम में सभी का आह्वान किया कि सर्वसमाज को साथ लेकर चलने वाले वरिष्ठ पत्रकार गोपाल शर्मा की आवाज बनकर उन्हें भारतीय जनता पार्टी की तरफ से लोकसभा में भेजना चाहिए।

श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर वाराणसी के महंत डॉ. कुलपति तिवारी ने कहा कि जयपुर के सभी वर्गों के लोगों में गोपाल शर्मा की अच्छी पहचान साख बनी है। गोपाल शर्मा सभी वर्गों के उत्थान के लिए हमेशा साथ रहे हैं। शर्मा को यहां से भारतीय जनता पार्टी का प्रत्याशी बनाया जाना चाहिए।

समरसता सम्मेलन में उपस्थित विभिन्न साधु-संतों और गणमान्य लोगों द्वारा की जा रही मांग को स्वीकार करते हुए गोपाल शर्मा ने कहा है कि पार्टी उनको मौका देती है, तो वह यह भूमिका में निभाने को तैयार हैं।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।