33 C
Jaipur
रविवार, जुलाई 5, 2020

कोरोना काल में कैसी होगी आपकी जिंदगी?

- Advertisement -
- Advertisement -

बीजिंग, 29 जून (आईएएनएस)। इस वक्त हर कोई यही सवाल पूछता है.. ये कोरोना संकट कब खत्म होगा? हर कोई यही जानना चाहता है कि आखिर हम सबकी पुरानी जिंदगी फिर से कब लौटेगी? फिलहाल इसका तो अभी यही जवाब है कि हमें कोरोना के साथ जीने की आदत डाल लेनी चाहिए।

यानी कोरोना से पहले की जिंदगी जीने का जो तरीका था, वो बदल जाएगी। चाहे नौकरी की बात हो या फिर शादी की, ट्रैवल करना हो या फिर किसी से मिलना हो, सारे तौर तरीके बदल जाएंगे।

दरअसल, कोरोना के चलते दुनिया में सब बदल चुका है, अब पहले की तरह चीजें नहीं है। कोरोना वायरस के प्रकोप और इसके चलते लॉकडाउन ने दुनिया में सब कुछ बदल दिया है। अब हर चीज को करने के नए नियम और दिशा-निर्देश जारी हो गये हैं।

जाहिर है, कोरोना वायरस की वैक्सीन तो फिलहाल बनी नहीं है, ऐसे में ये कोरोना वायरस इंसानों के साथ ही घूमता रहेगा। यानी कोरोना के साथ हमारी एक नई तरह की सामान्य जिंदगी कई एहतियात के साथ होगी, जिसे न्यू नॉर्मल कहा जा रहा है। दुनिया अब धीरे-धीरे एक नई तरह की जिंदगी की तरफ आगे बढ़ रही है।

हालांकि, दुनिया भर की सरकारों और वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि जल्द ही कोरोना वायरस की कोई ना कोई वैक्सीन मिल जाएगी। मगर दूसरी तरफ वो ये भी कह रहे हैं कि हमें कोरोना के साथ जीना सीखना होगा। आखिर कोरोना के साथ हमें कैसे और किस तरीके से रहना होगा, और हमारी नई जिंदगी कैसी होगी, इस पर नजर डालते हैं।

नमस्ते की आदत

हैलो या हाथ मिलाने का जमाना अब जा चुका है। अब कोरोना काल में लोग नमस्ते करने लगे हैं। आप दो गज की दूरी बनाकर किसी से भी नमस्ते कर सकते हैं। इससे न तो आप संक्रमित होंगे और न ही आपको किसी भी प्रकार का कोई खतरा होगा। मुमकिन है कि न्यू नॉर्मल में अब नमस्ते के साथ उचित दूरी भी अपनायी जाएगी।

खरीदारी

आम तौर पर भीड़-भाड़ वाले बाजारों में अब सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूरी होगा। दुकानदार हो या फिर ग्राहक सभी को मास्क पहनना होगा। अपने हाथों को सैनेटाइज करना होगा। इसके अलावा अपनी बारी के इंतजार के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करती हुई कतार में भी लगना होगा। अपना थैला भी साथ लाना होगा जिससे कि आप कम से कम संपर्क में आएं।

कैशलेस को बढ़ावा

अगर हमारी जिंदगी यूं ही न्यू नॉर्मल की तरफ बढ़ी तो सच मानिए अधिकांश खरीदारी या भुगतान कैशलेस ही हुआ करेगा यानी डिजिटल भुगतान होगा और तब लोग बैंक जाने से और नकदी इस्तेमाल करने से बचेंगे, क्योंकि इससे बार-बार संक्रमित होने का खतरा बना रहेगा। देखा गया है कि लॉकडाउन के दौरान डिजिटल भुगतान का चलन ज्यादा बढ़ा है।

यातायात में बदलाव

यातायात के तरीकों में तो बहुत सारे बदलाव हमें अभी से देखने को मिलने लगे हैं। हाल ही में भारत सरकार ने एयर ट्रांसपोर्ट के लिए नई गाइडलाइन जारी की है। मसलन आरोग्य सेतु ऐप मोबाइल पर इंस्टाल करना जरूरी है। सोशल डिस्टेंसिंग करना, मास्क पहनना होगा और थर्मल स्क्रीनिंग होगी। इस तरह के कई और नियम कानून बनाए गए हैं जो रोडवेज, मेट्रो और रेलवे के लिए भी अपनाए जाएंगे।

घर से ऑफिस का काम

पहले घर से ऑफिस का काम यानी वर्क फ्रॉम होम लोगों के लिए एक सुविधा की तरह होता था, लेकिन कोरोना काल में यह एक जरूरत बन गया है। घर से ऑफिस का काम करने का कल्चर अब न्यू नॉर्मल ही हो गया है। कंपनियां जितना मुमकिन हो सकेगा अपने कर्मचारियों को घर से ही काम करवाएंगी।

मेट्रो में सफर

मेट्रो का सफर भी पहले जैसा नहीं रहेगा। मसलन पहले जहां राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर खचाखच भीड़ दिखाई देती थी, वो शायद अब दिखाई न दे। अब मेट्रो स्टेशन में प्रवेश करने से पहले अपना तापमान जांच करवाना होगा, और मेट्रो में भी एक सीट खाली छोड़कर बैठना होगा। अरे हां, बिना मास्क के मेट्रो में दाखिल नहीं हो पाओगे।

शादियों में बदलाव

शादियों में जहां पहले लोगों की भीड़ जुटा करती थी और लोगों की जमकर मस्ती होती थी, शायद अब यह देखने को न मिले। इसके अलावा शादी में पंडित जी अब वर-वधु को कुछ नए वचन भी दिलाते नजर आएंगे। मंगलसूत्र से पहले शादियों में मास्क पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग और सैनेटाइजेशन करते रहने को भी कहा जाएगा। यानी कि न्यू नॉर्मल में शादियों के तौर-तरीकों में काफी बदलाव आ जाएंगे।

(लेखक : , चाइना मीडिया ग्रुप के संवाददाता हैं।साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग )

— आईएएनएस

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
कोरोना काल में कैसी होगी आपकी जिंदगी? 2
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

देश में कोरोना मामले 6.7 लाख के पार

नई दिल्ली, 5 जुलाई (आईएएनएस)। देश ने कोरोना के एक-दिवसीय मामलों का रविवार को नया रिकॉर्ड दर्ज किया। रविवार को 24,850 नए मामले सामने...
- Advertisement -

48 घंटे के बाद भी फरार विकास दुबे नहीं लगा पुलिस के हाथ (आईएएनएस स्पेशल)

लखनऊ, 5 जुलाई (आईएएनएस)। कानपुर में घात लगाकर आठ पुलिस कर्मियों की हत्या के बाद गैंगस्टर विकास दुबे को लापता हुए 48 घंटे से...

मप्र में प्रोटेम स्पीकर की नियुक्ति पर कांग्रेस ने उठाए सवाल

भोपाल 5 जुलाई (आईएएनएस)। रामेश्वर शर्मा को मध्य प्रदेश विधानसभा का प्रोटेम स्पीकर बनाया गया है। शर्मा की नियुक्ति पर कांग्रेस ने सवाल उठाए...

नेपाल में टिड्डियों ने 1,100 हेक्टेयर फसल को क्षति पहुंचाई

काठमांडू, 5 जुलाई (आईएएनएस)। बीते सप्ताह भारत से नेपाल में प्रवेश करने वाले टिड्डियों के झुंड ने हिमालयी देश नेपाल में 1,100 हेक्टेयर से...

Related news

3 माह से वेतन नहीं, सैंकड़ों कर्मचारियों की कोरोनाकाल में भूखे मरने की नौबत आई

-वेतन नहीं मिला तो कर्मचारी पहुंचे न्यायालय की शरणजयपुर। कोरोना संक्रमण काल के दौरान भी काम कर रहे...

थानाधिकारी सुसाइड मामले में आरोपित की गईं राजस्थान के एक विधायक को मुख्यमंत्री से भी बड़ी सुरक्षा प्रदान की गई है

जयपुर पिछले दिनों चूरू में सादुलपुर थाना अधिकारी विष्णु दत्त विश्नोई के सुसाइड मामले में विपक्षियों द्वारा जिस विधायक...

वसुंधरा से दूरियां, डॉ. सतीश पूनियां से नजदीकियां, आखिर क्या मंत्र है राठौड़ का?

जयपुर।राजस्थान विधानसभा में उप नेता प्रतिपक्ष और पिछली वसुंधरा राजे सरकार में पंचायती राज मंत्री रहे चूरू के विधायक राजेंद्र सिंह राठौड़...

2 साल 2 माह के मुख्य सचिव डीबी गुप्ता को राजस्थान सरकार ने आधी रात क्यों हटाया?

जयपुर राजस्थान सरकार ने गुरुवार आधी रात राज्य की ब्यूरोक्रेसी में बड़ा बदलाव करते हुए भारतीय प्रशासनिक सेवा के...
- Advertisement -