जयपुर।
राजेंद्र और उर्सुला जोशी फूड इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड (रुफिल) ने आज अपनी बाजार विस्तार योजनाओं की घोषणा की है जिसमें नए उत्पादों और ‘कैफे रुफिल’ की शुरूआत शामिल है।

एक बार की खपत और साथ ही साथ आसान हैंडलिंग को ध्यान में रखते हुए, रुफिल ने कप दही और मसाला छाछ जैसे उत्पादों को लॉन्च किया है।

कप दही 15 रुपये में उपलब्ध होगा, वहीं मसाला छाछ का पाउच 5 रुपये में मिलेगा।

महिंद्रा वल्र्ड सिटी, जयपुर में प्लांट के साथ, कंपनी डेयरी प्रोसेसिंग और प्रोडक्ट्स में स्विस विशेषज्ञता का दावा करती है।

रुफिल की जयपुर के आस-पास के इलाकों जैसे पुष्कर, किशनगढ़, सीकर, दूदू, सालासर, आदि में रुफिल उत्पादों को पेश करके अपनी पहुंच का और विस्तार करने की योजना है।

कप दही और मसाला छाछ के साथ कंपनी मूल्यवर्धित उत्पादों के उत्पादन में तेजी ला रही है।

आगे कंपनी आइसक्रीम, पनीर, स्विस स्टाइल दही आदि जैसे अधिक उत्पाद लॉन्च करने की योजना बना रही है।

वर्तमान में, रुफिल के बाजार में उपलब्ध उत्पादों में 500 एमएल और 1000 एमएल पैकेजिंग में दूध (फुल क्रीम, टोंड, डबल टोंड), एक किलोग्राम की पैकेजिंग में दही और 450 मिलीलीटर की पैकेजिंग में छाछ शामिल है।

रुफिल के मैनेजिंग डायरेक्टर अभिषेक जोशी ने कहा, ‘जहां तक प्रोडक्ट्स का सवाल है, रुफिल ने हमेशा ‘जरा हटके’ वाली नीति को अपनाया है।

हमारी हमेशा से यही फिलास्फी रही है। इसके अलावा, हमारी मसाला छाछ सिर्फ एक आम जीरा छाछ नहीं है जो हर जगह मिलती है, बल्कि इस उत्पाद में नवीनता लाते हुए, हम इसकी रेसिपी में पुदीना, काली मिर्च और जीरा जैसी कुछ सामग्री शामिल करके कुछ नया पेश कर रहे हैं।

रुफिल हमेशा इस बात को लेकर सावधान रही है कि उसके उत्पादों का स्वाद कैसा हो और इसलिए हम हमेशा बाजार में सबसे नवीन उत्पादों को लाने का लक्ष्य रखते हैं।

मुझे लगता है, छाछ मूल देसी जलपान है जो स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा है। हमने एक पाउच के लिए इसका उचित मूल्य 5 रुपये रखने की कोशिश की है।’

साथ ही, कंपनी की विस्तार योजनाओं के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘कैफे कॉन्सेप्ट पार्लर के माध्यम से रिटेलिंग उत्पादों के अनुरूप, रुफिल ने फूड कोर्ट, आईटी पार्क, महिंद्रा एसईजेड में अपना दूसरा आउटलेट खोला है।

कैफे रुफिल में डेयरी उत्पाद, रुफिल शेक और इतालवी, दक्षिण भारतीय और चाइनीज व्यंजनों की पेशकश की जाएगी, जो युवा पेशेवरों की मांग के अनुरूप भी है।’

रोबोबैंक की समीक्षा रिपोर्ट 2017 के अनुसार, वैल्यू एडेड प्रोडक्ट्स के 15 से 20 फीसदी बढ़ने की उम्मीद थी जबकि इसने साल-दर-साल औसतन 15 फीसदी की वृद्धि देखी है।

उच्च लाभ अनुपात की पेशकश के चलते डेयरी उद्योग आज के समय में मूल्यवर्धित उत्पादों को प्रमुख विकास चालक के रूप में देख रहा है।

इसलिए, कंपनियों ने बाजार के इस सेगमेंट पर अधिक ध्यान केंद्रित करने का फैसला किया है। रोबोबैंक की समीक्षा रिपोर्ट के अनुसार, मूल्य वर्धित उत्पादों की हिस्सेदारी 2020 तक कुल संगठित बाजार के 30 फीसदी तक पहुंचने की उम्मीद है।

वर्तमान में, रुफिल ने 50,000 एलपीडी (लीटर प्रतिदिन) की उत्पादन क्षमता स्थापित की है और यह वर्तमान में लगभग 15,000 एलपीडी प्रोसेस कर रही है।

कंपनी के जयपुर में और आसपास 40 वितरक हैं और कंपनी लगातार अधिक क्षेत्रों के साथ जुड़ रही है।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।