Rajasthan news.

पिछले वसुंधरा सरकार में बंद की गई राजस्थान रोडवेज की ग्रामीण सेवा को कांग्रे सरकार फिर से शुरू करने जा रही है। इसके लिए राजस्थान की सरकार ने प्राइवेट बस ऑपरेटर्स के साथ अनुबंध करने का फैसला किया है।

बताया जा रहा है कि राजस्थान भर इसके लिए कम से कम 500 अतिरिक्त बसों की आवश्यकता है, लेकिन राज्य सरकार नई बसें खरीदने के बजाय नागरिक परिवहन बसों की तर्ज पर ग्रामीण रोडवेज सेवा के लिए भी इसी तरह से बसों का अनुबंध करेगी।

आपको यह भी बता दें कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनने के तुरंत बाद यातायात मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा था कि नागरिक परिवहन बसों का अनुबंध आगे नहीं बढ़ाया जाएगा।

राज्य सरकार नई बसें खड़ी होने के लिए काम करेगी, लेकिन महज डेढ़ माह बाद ही राज्य सरकार ने अपना फैसला पलट दिया।

अब ग्रामीण सेवा में रोडवेज बसों का संचालन तो किया जाएगा, लेकिन इसके लिए राजस्थान रोडवेज नई बसों की खरीद नहीं करेगा, बल्कि नागरिक परिवहन की तर्ज पर ही अन्य बस ऑपरेटर्स के साथ अनुबंध करेगा।

गौरतलब है कि राजस्थान की दूरदराज वाले ग्रामीण क्षेत्रों में सरकारी बसों का संचालन वसुंधरा सरकार ने बंद कर दिया था, उससे पहले यह बसें बेहद खटारा हालत में चल रही है।

रोडवेज को इससे नुकसान हो रहा था और लगातार घाटे में जाते इस डिपार्टमेंट ने तय किया था कि ग्रामीण सेवा में लगी बसों को हटाया जाएगा।