jaipur
राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय मेडिकल कॉलेज में पिछले 3 महीनों से लगातार विद्यार्थी आधारभूत सुविधाओं की कमियों से जूझ रहे हैं।

मेडिकल कॉलेज के छात्रों का कहना है कि यहां हॉस्टल और कॉलेज परिसर में पीने का साफ पानी नहीं है। कॉलेज में न सफाई होती है, ना मेस है, ना कैंटीन है। विद्यार्थियों के लिए कॉलेज (प्रताप नगर) से जयपुरिया हॉस्पिटल जाने के लिए बस की भी सुविधा नहीं है।

इंटर्न डॉक्टर को पिछले 6 महीने से स्टाइपेंड नहीं मिल रहा है।
कॉलेज प्रशासन को बार-बार इन समस्याओं से अवगत कराया जा चुका है, फिर भी कुछ समाधान नहीं हो रहा है।

इससे पहले 21 अगस्त 2019 को इन मांगों को लेकर सभी विद्यार्थी एवं इन्टर्न डॉक्टर ने हड़ताल की थी। तब यूनिवर्सिटी प्रशासन ने आश्वासन दिया था कि जल्द ही सारी समस्याओं का समाधान किया जाएगा।

लेकिन 20 दिन बीत जाने के बावजूद भी कुछ नहीं हुआ। इसके चलते विद्यार्थियों और इन्टर्न डॉक्टर को परेशान होकर दुबारा हड़ताल पर पड़ रहा हैं। आज भी विद्यार्थी और इंटर डॉक्टर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर रहे।

बताया जा रहा है कि इस दौरान यूनिवर्सिटी प्रशासन ने छात्रों और इंटर्न से बात करने और समाधान करने का कोई प्रयास नहीं किया है, जिसके चलते आंदोलन और उग्र हो सकता है।

दूसरी तरफ चीफ एकाउंट्स ऑफिसर की मर्जी और शिक्षकों की तनख्वाह नहीं मिलने के कारण उनके के खिलाफ भी आरयूएचएस कॉलेज के टीचर्स और कर्मचारी आंदोलन कर रहे थे।

विश्वविद्यालय के चीफ अकाउंट्स ऑफीसर युगांतर कुमार के खिलाफ विश्वविद्यालय के शिक्षकों और आरयूएचएस अस्पताल के डॉक्टरों ने हड़ताल कर रखी थी।