…और दौड़ पड़ीं राजस्थान रोडवेज की साढे 4 हजार बसें

38
- नेशनल दुनिया पर विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें 9828999333-
dr. rajvendra chaudhary jaipur-hospital

जयपुर।

पिछले 20 दिन से आगारो में खड़ी राजस्थान रोडवेज की करीब 4500 से अधिक बसों के पहिए आज दौड़ पड़े। शनिवार को चुनाव आयोग द्वारा राजस्थान समेत देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव की घोषणा के साथ ही प्रदेश भर में आचार संहिता लग गई और ऐसे में राहत की उम्मीद लगाए हज़ारों हड़ताली कर्मचारियों के हाथ आसमान से छूट गए।
इसके बाद शनिवार रात को ही संयुक्त मोर्चा की बैठक कर हड़ताल खत्म करने का निर्णय ले लिया गया। रात को ही बसों का संचालन शुरू हो गया और राजस्थान रोडवेज फेडरेशन ने भी 24 दिन से चल रहा अनशन कार्यक्रम भी खत्म कर दिया।
इधर, मंत्रालय कर्मचारियों ने 20 सितंबर से कार्य बहिष्कार 18 दिन बाद वापस ले लिया। हालांकि, जयपुर सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विसेज लिमिटेड कि करीब ढाई सौ से ज्यादा बसें आज भी नहीं चली हैं। जेसीटीएसएल की बसों के संचालन को लेकर आज निर्णय ले लिया जाएगा।

राजस्थान में आदर्श आचार संहिता लगने के साथ ही प्रदेश के करीब डेढ़ लाख सरकारी कर्मचारी सोमवार को काम पर लौट आएंगे, इस बात की पूरी संभावना है।

गौरतलब है कि राजस्थान में 7 नवंबर को एक ही चरण में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान किया जाएगा, उसके बाद 11 दिसंबर को चार अन्य राज्यों के साथ नतीजे घोषित किए जाएंगे।