Nationaldunia

जयपुर।
आज का शुक्रवार प्रदेश के बेरोजगारों के लिए खुशी की खबर लेकर आया है। राज्य में रीट लेवल प्रथम के तहत चयनित 26 हजार शिक्षकों को लेकर हाईकोर्ट ने अपील खारिज करते हुए बड़ी राहत दी है। राजस्थान हाईकोर्ट के जज मोहम्मद रफीक की खंडपीठ ने अपीलार्थी महेंद्र समेत तमाम रिट खारिज करते हुए ज्वाइनिंग का रास्ता साफ कर दिया है।

आपको बता दें कि रीट लेवल प्रथम के 26 हजार चयनित शिक्षकों को एग्जाम के बाद जिला अलॉट कर दिया गया था, लेकिन उसके बाद एक अभ्यर्थी महेंद्र जाटोलिया और अन्य ने हाईकोर्ट में अपील दायर की।

इसपर तीन दिन तक लगातार सुनवाई और आज फैसला देते हुए जस्टिस मोहम्मद रफीक की बैंच ने सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया।

दरअसल, इस मामले में विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी ने राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव को लिखित में कहा था कि सरकार बनने पर कोर्ट में मजबूती से पैरवी कर ज्वानिंग का रास्ता साफ किया जाएगा।

इसके बाद बीते दिनों उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने राज्य सरकार के महाधिवक्ता महेंद्र सिंह सिंघवी को इस मामले में बेरोजागारों का पक्ष रखने के लिए की अपील की थी, जिसे उन्होंने मानकर बेरोजगारों का मजबूती से पक्ष रखा।

सुनवाई पूरी होने के बाद बीते माह की 17 तारीख को कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया था। आज राजस्थान हाईकोर्ट ने सभी अपीलों को खारिज करते हुए बेरोजागारों को बड़ी राहत दी है।

इस मामले में उपेन यादव ने सरकार को धन्यवाद देते हुए कहा कि राज्य के सरकार के सकारात्मक सहयोग के कारण आज प्रदेश के 26 हजार चयनित शिक्षकों को नियुक्ति मिलने का रास्ता साफ हो गया है।

आपको बता दें कि राज्य के सभी चयनित 26 हजार शिक्षकों को जिला अलॉट होने के बाद यह नियुक्ति प्रक्रिया रुकी हुई थी। जिसके चलते चयनितों ने कई बार प्रदर्शन भी किया था।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।