गहलोत के नेतृत्व में अपराधियों ने आपदा को अवसर मान लिया है

राज्य में कोविड-19 के मरीजों के लिए ऑक्सीजन की तत्काल आपूर्ति की व्यवस्था सुनिश्चित करे गहलोत सरकार, मुख्यमंत्री गहलोत अपराधियों एवं बजरी माफियाओं पर शिकंजा कसने में पूरी तरह नाकाम: डाॅ. पूनियां

जयपुर। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने प्रदेश की बिगड़ी हुई कानून व्यवस्था, कोरोना कुप्रबंधन, गैंगरेप एवं दुष्कर्म की बढ़ती वारदातें, बजरी माफियाओं का बढ़ता आतंक इत्यादि मुद्दों को लेकर कांग्रेस सरकार एवं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर निशाना साधा है।

डाॅ. पूनियां ने ट्वीट किया कि, आज के समाचार फिर कोरोना के बढ़ते संक्रमण व मौतों के बाद गैंगरेप, दुष्कर्म, आत्महत्याएं, बजरी माफियों के दुस्साहस, लूट, मिलावट, सट्टा, झांसा, नकबजनी, चोरी जैसी सुर्खियों से भरे हैं, लगता है मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में अपराधियों ने आपदा को अवसर मान लिया है।

कोरोना कुप्रबंधन को लेकर डाॅ. पूनियां ने ट्वीट किया कि, राज्य में कोविड-19 से मृत्यु का एक बड़ा कारण ऑक्सीजन की तत्काल आपूर्ति नहीं होना है।

अशोक गहलोत की सरकार इसकी व्यवस्था सुनिश्चित करे, जयपुर में संक्रमण वृद्धि चिंताजनक है। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा, कोरोना एडवाइजरी की कठोर पालना के साथ उपचार की और बेहतर कार्य योजना की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में 1 लाख 5 हजार से अधिक कोरोना के मामले सामने आ चुके हैं, जयपुर, जोधपुर, अलवर, कोटा, अजमेर हाॅस्टस्पाॅट बने हुए हैं।

प्रदेश में कोरोना से 1350 से अधिक लोग अपनी जिन्दगी गंवा चुके हैं और पिछले 7 दिन में 88 लोग दम तोड़ चुके हैं। कोरोना प्रदेश में तेजी से पैर पसार रहा है, लेकिन राज्य सरकार एडवाइजरी की गंभीरता से पालना नहीं करा पा रही है।

यह भी पढ़ें :  विकास की तेज दौड़ती हुई गाड़ी को पटरी पर से नहीं उतारे, इसे और दौड़ने दें- वसुंधरा राजे

धौलपुर के बसेड़ी में 14 साल की बच्ची से गैंगरेप एवं खुदकुशी के मामले पर डाॅ. पूनियां ने कहा कि, ऐसे मामलों से बार-बार प्रदेश शर्मसार हो रहा है, मुख्यमंत्री गहलोत, जो प्रदेश के गृहमंत्री भी हैं, कानून व्यवस्था संभालने में पूरी तरह विफल हो चुके हैं।

दरिंदों की तुरंत गिरफ्तारी हो, फास्ट ट्रैक कोर्ट के माध्यम से कड़ी सजा मिलनी चाहिये। उन्होंने कहा कि, प्रदेश में दुष्कर्म, छेड़छाड़, लूट, हत्या के मामले बढ़ते जा रहे हैं, मुख्यमंत्री गहलोत हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं।

दिखावे के लिये कानून व्यवस्था को लेकर समीक्षा बैठक कर लेते हैं, लेकिन हकीकत यह है कि प्रदेश में अपराध का ग्राफ तेजी से बढ़ता जा रहा है और मुख्यमंत्री अपराधियों पर शिकंजा कसने के प्रति गंभीरता से कोई एक्शन प्लान पर कार्य नहीं कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि राज्य में बजरी माफियाओं का आतंक भी बढ़ता जा रहा है, हाल ही में जयपुर के फागी में बजरी माफियाओं ने पुलिसकर्मियों पर हमला किया, भरतपुर के रूपवास में बजरी माफियाओं ने हथियार लहराकर पुलिसकर्मियों को डराने की कोशिश की।

इससे पहले भी कई जिलों में बजरी माफियाओं द्वारा पुलिसकर्मियों एवं गार्डों पर फायरिंग, पत्थरबाजी एवं गाड़ियों से कुचलने के मामले भी सामने आ चुके हैं। उन्होंने कहा कि, मुख्यमंत्री गहलोत अपराधियों एवं बजरी माफियाओं पर शिकंजा कसने में पूरी तरह नाकाम हो चुके हैं।