30 C
Jaipur
शनिवार, सितम्बर 19, 2020

रक्तदान के विश्व रिकार्ड के साथ राजस्थान हुआ सचिन पायलटमय

- Advertisement -
- Advertisement -

रामगोपाल जाट। राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री व प्रदेश कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सचिन पायलट का सोमवार को 43वां जन्मदिन मनाया गया।

सचिन पायलट और उनके साथी विधायकों, समर्थक और चाहने वाले लोगों के द्वारा पूरे राजस्थान के सभी 33 जिलों और समस्त तहसीलों में रक्तदान शिविरों का आयोजन किया गया।

शाम को 5:00 बजे तक मिली मीडिया रिपोर्ट में पता चला है कि रक्तदान शिविर के माध्यम से एक दिन में सर्वाधिक रक्तदान होने का विश्व रिकॉर्ड टूट गया।

जानकारी के मुताबिक पूरे राजस्थान में शाम 5:00 बजे तक करीब एक लाख, 20 हज़ार यूनिट से ज्यादा ब्लड डोनेशन किया गया।

अधिकांश जगह ब्लड डोनेशन करने का समय 4:00 बजे से लेकर 5:00 बजे तक का दिया हुआ गया। देर रात तक पूरे राजस्थान से रक्तदान के आंकड़े एकत्रित होंगे।

आपको बता दें कि एक दिन में सर्वाधिक ब्लड डोनेशन होने का रिकॉर्ड एक लाख, 10 हजार यूनिट का है।

गौरतलब है कि सचिन पायलट के जन्मदिन को भव्य और अभूतपूर्व मनाने के लिए इस बार करीब 15 दिन से बड़े पैमाने पर तैयारियां चल रही थीं।

प्रदेश के सभी 33 जिलों में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं, सचिन पायलट के समर्थक विधायकों और उनके चाहने वाले कांग्रेस के वर्तमान और पूर्व पदाधिकारियों के द्वारा ब्लड डोनेशन की तैयारियों को एक दिन पहले ही अंतिम रूप दिया जा चुका था।

सोशल मीडिया पर जहां पोस्टर और बैनर की बाढ़ आई रही, वहीं राज्य के तमाम नेशनल और स्टेट हाईवेज पर सचिन पायलट के जन्मदिन के अवसर पर उनको बधाई और शुभकामनाएं देने के साथ ही रक्तदान शिविर में पहुंचकर अधिक से अधिक ब्लड डोनेशन करने की अपील भी क़रीब एक सप्ताह की जा रही थी।

पिछले दिनों मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और तत्कालीन उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच राजनीतिक शीतयुद्ध शुरू होने और उसके समाप्त के बाद प्रदेश में यह पहला सबसे बड़ा कार्यक्रम रहा।

खास बात यह है कि पूरे प्रदेश में जहां कोरोना का कहर अपने चरम पर है, बावजूद इसके सचिन पायलट के समर्थकों के द्वारा बढ़-चढ़कर ब्लड डोनेशन कैंप में हिस्सा लिया गया।

वैसे तो सचिन पायलट ने जयपुर में रहकर अपने समर्थकों के बीच जन्मदिवस मनाया, लेकिन उनके द्वारा 4 दिन पहले ही एक अपील की गई थी कि प्रदेश के तमाम कार्यकर्ता और उनके चाहने वाले लोग जयपुर में पहुंचकर उनको जन्मदिन की बधाई और शुभकामनाएं देने के बजाय अपने-अपने क्षेत्र में रक्तदान शिविर का आयोजन कर मरीजों के लिए आवश्यक ब्लड एकत्रित करने का काम करें।

पूरे राजस्थान में सड़कों के दोनों तरफ़, कई बड़ी बिल्डिंग्स के ऊपर और सोशल मीडिया में सचिन पायलट को शुभकामनाएं और बधाई देते बड़े बैनर और पोस्टर पूरे राजस्थान को राजनीतिक तौर पर सचिन पायलटमय होने का साफ संकेत देते रहे।

अपने जन्मदिवस के अवसर पर सचिन पायलट ने उनको बधाई और शुभकामनाएं देने वालों को धन्यवाद दिया और इसके साथ ही जन्मदिन को विशेष बनाने के लिए उन्होंने रक्तदाताओं का हृदय से आभार व्यक्त किया।

आपको बता दें कि पूर्वी राजस्थान में पूर्व मंत्री विश्वेंद्र सिंह, रमेश मीणा, विधायक जी आर खटाणा, पृथ्वीराज मीणा समेत सचिन पायलट समर्थक विधायकों के द्वारा पायलट के इस जन्मदिन को विशेष बनाने के लिए बड़े पैमाने पर तैयारियां की गई थी।

नागौर के क्षेत्र में युवा विधायक मुकेश भाकर और रामनिवास गावड़िया के द्वारा कमान संभाली गई। पायलट के जन्मदिवस को विशेष बनाने के लिए गंगानगर में एनएसीआई की पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यु पूनिया ने बड़े पैमाने पर लोगों को जोड़ने का काम किया।

सचिन पायलट के लिए जयपुर में राजस्थान विश्वविद्यालय के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष और पूर्व महासचिव के द्वारा ब्लड डोनेशन कैंप का आयोजन किया गया।

अजमेर संभाग में सचिन पायलट के समर्थकों के द्वारा तकरीबन प्रत्येक तहसील स्तर पर रक्तदान शिविर का आयोजन करके रक्तदान की हजारों यूनिट्स एकत्रित की गई।

टोंक से सचिन पायलट विधायक हैं, यहां पर पायलट के समर्थक विधायकों और कार्यकर्ताओं के द्वारा तकरीबन प्रत्येक पंचायत के स्तर पर रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया।

देखा जाए तो अब तक राजस्थान में किसी भी नेता के जन्म दिवस के अवसर पर इस तरह से पूरे राजस्थान में रक्तदान शिविर नहीं लगाए गए थे, बल्कि कहना अतिशयोक्ति नहीं होगा कि विश्व रिकॉर्ड बनाने के साथ ही सचिन पायलट ने अपने विरोधियों को यह भी दिखाने में कामयाबी हासिल की है, कि कांग्रेस में जनाधार के आधार पर उनके मुकाबले का दूसरा कोई नेता नहीं है।

सचिन पायलट के उपमुख्यमंत्री और कांग्रेस के अध्यक्ष नहीं होने के बावजूद जन्मदिन के इस अवसर पर जिस तरह से जनसमर्थन हासिल हुआ है, उससे निश्चित रूप से उनके विरोधियों में चिंता और तनाव जरूर होगा।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया, प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा, खुद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र सिंह राठौड़ समेत राज्य के तकरीबन प्रत्येक छोटे बड़े नेता ने टि्वटर व फेसबुक के माध्यम से सचिन पायलट को उनके 43वें जन्मदिन की बधाई दी और उनके स्वस्थ, दीर्घायु होने की कामना की है।

- Advertisement -
रक्तदान के विश्व रिकार्ड के साथ राजस्थान हुआ सचिन पायलटमय 3
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

आईपीएल-13 : उद्घाटन मुकाबले में आज आमने-सामने होंगे सुपर किंग्स, मुम्बई इंडियंस

अबु धाबी, 19 सितम्बर (आईएएनएस/ग्लोफैंस)। आईपीएल के 13वें संस्करण का शनिवार को आगाज होगा और दुनिया की इस सबसे बड़ी पेशेवर टी20 लीग के...
- Advertisement -

तेलंगाना में कोरोना के 2,043 नए मामले और 11 नई मौतें

हैदराबाद, 18 सितम्बर (आईएएनएस)। तेलंगाना में पिछले 24 घंटों में कोरोनावायरस से 11 नई मौतें हुई हैं जबकि संक्रमण के 2,043 नए मामले सामने...

पैंगॉन्ग झील में 4 स्थानों पर राइफल रेंज में भारतीय और चीनी सैनिक

नई दिल्ली, 18 सितम्बर (आईएएनएस)। भारतीय और चीनी विदेश मंत्रियों के विवादित सीमा पर तनाव कम करने के लिए सहमत होने के बावजूद, दोनों...

दिल्ली में 5 अक्टूबर तक सभी स्कूल रहेंगे बंद : सरकार (लीड-1)

नई दिल्ली, 18 सितम्बर (आईएएनएस)। कोरोनावायरस मामलों में वृद्धी के मद्देनजर दिल्ली सरकार ने शुक्रवार को घोषणा की कि यहां 5 अक्टूबर तक सभी...

Related news

पिंकी प्रधान आशिक की तीसरी पत्नी बनने से पहले एक साल लिव इन रिलेशनशिप में रही!

बाड़मेर। 'पिंकी प्रधान' उर्फ समदड़ी पंचायत समिति प्रधान पिंकी चौधरी अपने आशिक अशोक चौधरी की तीसरी पत्नी बनने से पहले एक साल...

बाड़मेर: लड़की भगा ले गया शिक्षक, मिलते ही घरवालों ने किया ऐसा हाल

बाड़मेर। राजस्थान के सीमावर्ती जिले बाड़मेर में एक स्कूल के अध्यापक पर जानलेवा हमले और नाक व दोनों कान काटने की घटना सामने...

पिंकी चौधरी भागने वाली लड़कियों की रोल मॉडल बनी, चार लड़कियों ने ली प्रेरणा और प्रेमियों के साथ भाग गईं

बाड़मेर/टोंक। पिछले महीने बाड़मेर के समदड़ी पंचायत समिति की प्रधान पिंकी चौधरी के घर से भागने और आपने प्रेमी अशोक चौधरी के...

किसानों को बहकाने और बरगलाने का काम कर रहे कांग्रेस-वामपंथी दल

-मोदी सरकार के तीनों ही विधेयक क्रांतिकारी हैं, किसान को मिलेगी तरक्की, मजबूती और ताकत। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने हमेशा किसानों,...
- Advertisement -