कोरोना पॉजिटिव डॉ सतीश पूनियां लोगों से ऑनलाइन बात करते हुए भावुक

पार्टी कार्यकर्ताओं, आमजन से दूर होने का बड़ा दुख है, स्वस्थ होकर जल्द आऊंगा आपके पास, आपकी सेवा करने, मेरा मनोबल बढ़ाते रहिये: डॉ. सतीश पूनियां
मैंने जीवन में जो बड़ी पूंजी कमाई है, वो आप सब लोग हैं, असंख्य लोग मुझसे जुड़े हुये हैं, मेरे लिये दुआएं कर रहे हैं: डॉ. सतीश पूनियां
मां, घर-परिवार, पार्टी कार्यकर्ता, आमजन, शुभचिंतक, दोस्त मेरे लिये दुआ कर रहे हैं, सभी का आभारी हूं: डॉ. सतीश पूनियां
जब जमीन पर कार्य करते हुये जनता से जुड़ते हैं तो कितना प्यार मिलता है, यह प्यार आपकी ताकत है, दुआएं आपकी ताकत हैं: डॉ. सतीश पूनियां
डॉ. सतीश पूनियां की आमजन एवं पार्टी कार्यकर्ताओं से अपील, मास्क, सैनेटाइजर का उपयोग जरूर करें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें

जयपुर। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां का पार्टी, कार्यकर्ताओं एवं आमजन के प्रति अपनापन एवं समर्पण ना केवल जमीन पर काम करते हुये रहता है, बल्कि घर में आइसोलेट रहते हुए भी वे पार्टी पदाधिकारियों की बैठक लेकर आगामी कार्यक्रमों के बारे में संवाद कर दिशा-निर्देश दे रहे हैं और कार्यकर्ताओं एवं आमजन से फेसबुक संवाद के माध्यम से संवाद भी कर रहे हैं।


डॉ. पूनियां ने रविवार दोपहर को लगभग 30 मिनट तक फेसबुक संवाद के माध्यम से रू-ब-रू होते हुये कार्यकर्ताओं, आमजन, शुभचिंतकों एवं मित्रों से संवाद किया।

फेसबुक संवाद को भरपूर जनसमर्थन मिला है, जिसे एक लाख से अधिक लोगों ने देखा, 3 लाख से अधिक लोगों तक पहुंच, 5200 से अधिक कमेंट्स, 860 से अधिक शेयर किया गया है। डॉ. पूनियां के लाइव संवाद के दौरान लगभग 50 हजार से अधिक लोग मौजूद रहे।


फेसबुक संवाद में डॉ. पूनियां ने सभी सभी शुभचिंतकों, मित्रों, कार्यकर्ताओं एवं आमजन को दुआएं करने के लिये धन्यवाद देते हुये कहा कि, इस महामारी में आपका स्नेह एवं आशीर्वाद लेने आया हूं, आपसे मिलने से मेरा हमेशा मनोबल बढ़ता है, लेकिन अभी घर में आइसोलेट रहते हुये मिल नहीं सकता, इसलिये फेसबुक के माध्यम से आपसे संवाद किया, इससे भी मेरा मनोबल बढ़ता है।

उन्होंने कहा कि 5 सितंबर को पार्टी की वर्चुअल बैठक में संवाद करने से मेरा भरोसा और बढ़ा, और अब आपसे संवाद करने से भी मेरा भरोसा मजबूत हुआ है।


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा के आह्वान एवं निर्देशानुसार कोरोनाकाल में पार्टी द्वारा किये गये सेवा कार्यों को याद करते हुये डॉ. पूनियां ने कहा कि, मार्च में लॉकडाउन के दौरान पार्टी के केन्द्रीय नेतृत्व के निर्देशानुसार प्रदेशभर में सभी कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों, सांसदों एवं विधायकों ने सेवा कार्य किये, सेवा कार्यों के इसी उद्देश्य से लॉकडाउन के एक हफ्ते के अंदर ही मैं सवाईमानसिंह अस्पताल डॉक्टरों, चिकित्साकर्मियों से मिलने पहुंचा, इस दौरान सफाईकर्मियों, पुलिसकर्मियों से भी मिलकर उनका मनोबल बढ़ाने की कोशिश की।

यह भी पढ़ें :  हनुमान बेनीवाल ने स्थानीय लोगों को नौकरी देने के लिए संसद में उठाई यह मांग

उन्होंने कहा कि, संयोग से मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी विधायकों को जांच करानी चाहिये, मैंने रुटीन की जांच कराई, मैं कई विधायकों, कार्यकर्ताओं एवं परिचितों के बेहतर इलाज को लेकर अस्पतालों में चिकित्सकों से फोन पर बात कर रहा था, रात को डॉ. भंडारी साहब का फोन आया कि आपको तो खुद को पॉजिटिव है, ऐसी स्थिति में चिंता होती, डॉक्टरों की सलाह एवं परामर्श जरूरी होता, इन सबका का पालन कर रहा हूं।


डॉ. पूनियां ने कहा कि, कोरोना ने मुझे जो सजा दी है वह है कि अपनों से अलग, कार्यकर्ताओं एवं आमजन से अलग कर दिया, तो मेरे जैसे जमीन पर काम करने वाले के लिये यह बड़ी सजा है, ऐसे में 14 दिन तक मैं किसी से नहीं मिल सकता, स्वस्थ होकर फिर से आपके बीच आपकी सेवा के लिये आऊंगा।

कॉलेज के समय के संघर्ष के दिनों को याद करते हुये डॉ. पूनियां ने कहा कि, आइसोलेट होने के कारण कपड़े एवं बर्तन खुद धो रहा हूं, विद्यार्थी जीवन के संघर्ष को याद कर यह सब मैं कर रहा हूं।

इस दौरान सबसे बड़ा दुख कार्यकर्ताओं, आमजन से दूर होने का है, स्वस्थ होकर जल्द आऊंगा आपके पास, मैं आपसे दूर नहीं रह सकता था, इसलिये फेसबुक के माध्यम से आपसे रूबरू होने आया हूं।


उन्होंने आमजन एवं कार्यकर्ताओं से कोविड की गाइडलाइन का पालन करने का आह्वान करते हुये कहा कि, इस बीमारी का सबसे बड़ा उपाय बचाव है, सोशल डिस्टेंसिंग एवं मास्क लगाना बहुत जरूरी है, मैं सबसे करबद्ध निवेदन करता हूं कि सोशल डिस्टेंसिंग की अनुपालन जरूरी है, मैं चाहकर भी आमजन से दूर नहीं रह पाया और ना कभी दूर रह सकता हूं, स्वस्थ होकर आपके बीच आऊंगा, सबसे बड़ा प्रभावी इलाज एवं बचाव मास्क पहनना जरूरी है।

राजनीतिक व्यवस्ता के चलते योग व्यायाम, प्रणायाम रोजाना नहीं कर पाता था, बाबा रामदेव के योग के वीडियो देखकर योग कर रहा हूं, जिनसे आनंद की अनुभूति हुई, मन को शांति मिल रही है, प्रजापिता ईश्वरीय ब्रह्मकुमारी विश्वविद्यालय संस्थान की शिवानी दीदी का 15 मिनट का मेडिटेशन का ऑडियो सुना, जिससे बहुत सुकून मिला, आर्ट ऑफ लिविंग गुरु श्री श्री रविशंकर के संस्थान के भगवान श्रीकृष्ण के भजन सुने, इससे मुझे अतिरिक्त ऊर्जा मिली।

उन्होंने कहा कि डॉ. सुधीर भंडारी, डॉ. खेदर, डॉ. विनोद जोशी, डॉ. गिरधर गोयल, डॉ. बी लाल के ऐसे तमाम साथी जिन्होंने मेरी फिक्र की, होम्योपैथिक एवं आयुर्वेदिक ट्रीटमेंट भी ले रहा हूं, डॉ. नेमीचंद पंवार ने होम्योपैथिक मेडिसिन उपलब्ध करवाई, डॉ. श्रीराम तिवारी आयुर्वेद का काढ़ा देकर गये, इन सभी कोरोना योद्धाओं का आभारी हूं।

यह भी पढ़ें :  Sabarimala: 800 साल में पहली बार दो महिलाओं ने वह किया, जो कोई नहीं कर पाया


डॉ. पूनियां ने कहा कि मेरी इम्यूनिटी मजबूत बनी रहे, इसके लिए डॉक्टरों की गाइडलाइन का पालन कर रहा हूं, आप लोगों से भी निवेदन करूंगा कि आप भी इम्यूनिटी बढ़ाने पर ध्यान दें। ज्यादातर लोग काढ़े की सलाह दे रहे हैं, जिसका भी मैं सेवन कर रहा हूं।

उन्होंने कहा कि 8 सितंबर को प्रदेश के उपखण्ड स्तरों पर सिर्फ विधायक, मण्डल के अध्यक्ष, मण्डल के महामंत्री, नगर पालिकाओं के चैयरमैन और प्रधान इत्यादि प्रमुख लोग ज्ञापन देंगे, जिला स्तर पर 10 सितंबर को सांसद, जिलाध्यक्ष, विधायक और प्रदेश के पदाधिकारी ज्ञापन देंगे, जिसके बारे में पार्टी ने दिशा-निर्देश जारी किये हैं।


उन्होंने कहा कि, दुआओं में दम होता है, जब मेरी 85 साल का मां मेरे लिये दुआ करती हूं तो यश मिलता है, और मेरा परिवार तो बहुत बड़ा है भारतीय जनता पार्टी परिवार, कार्यकर्ता, शुभचिंतक दुआ कर रहे हैं, मैं सभी का शुक्रगुजार हूं, आभारी हूं।

पीएमओ के अधिकारियों, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया, उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़, केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान, गजेन्द्र सिंह शेखावत, अर्जुनराम मेघवाल, कैलाश चौधरी, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, सांसद हनुमान बेनीवाल, सांसद राजेन्द्र गहलोत, सांसद देवजी पटेल, लगभग सभी विधायकगण सांसदों एवं पार्टी के तमाम लोगों ने मेरी कुशलक्षेम पूछी, साथ ही दलों से ऊपर उठकर लोगों ने भी मेरी कुशलक्षेम पूछी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं शिक्षा मंत्री गोविंद डोटासरा, पूर्व मंत्री विश्वेन्द्र सिंह सहित विभिन्न नेताओं एवं प्रशासनिक लोगों ने मेरी कुशलक्षेम पूछी, फुलेरा के आसपास एक पंक्चर वाले ने भी फोन करके हालचाल पूछे, आप अंदाजा लगा सकते हैं जब पर जमीन पर कार्य करते हुये जनता से जुड़ते हैं तो कितना प्यार मिलता है, यह प्यार आपकी ताकत है, दुआएं आपकी ताकत हैं।


उन्होंने बॉलीवुड के प्रसिद्ध अभिनेता अमिताभ बच्चन का उदाहरण देते हुये कहा कि कुली फिल्म की शूटिंग के दौरान अमिताभ बच्चन के पेट में घूंसा लगा था, उनका अस्पताल में इलाज चला, जब वो सही होकर अस्पताल से बाहर आये तो पत्रकारों ने पूछा था आप अपने स्वस्थ होने का श्रेय किसे देंगे, तो उन्होंने कहा कि ईश्वर तो है ही, फिर डॉक्टर्स होते हैं, जो दवा देते हैं इलाज करते हैं, लेकिन करोड़ों लोगों ने जो दुआएं की उनका भी बहुत असर होता है, तो मैं यह मानता हूं कि दुआओं का असर था, जिन्होंने दवाओं को भी प्रेरित किया होगा।

यह भी पढ़ें :  कोरोना वायरस के नाम से भाग गए आरयूएचएस के डॉक्टर-स्टाफ, जयपुर का है मामला

उन्होंने कहा कि सब लोग मेरे लिये दुआ कर रहे हैं, मां, घर-परिवार, पार्टी कार्यकर्ता, आमजन जो मेरे लिये दुआ कर रहे हैं उनका शुक्रगुजार हूं, आप लोग मास्क, सैनेटाइजर का उपयोग करें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।


प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की चिंता करते हुये डॉ. पूनियां ने कहा कि, कोरोना में मुझे भी अस्पताल जाने से डर लगा, जिसकी वजह स्वास्थ्य अव्यवस्थायें, बीकानेर, जैसलमेर, भरतपुर, भीलवाड़ा में स्वास्थ्य अव्यवस्थाओं के कारण कई कई कोविड मरीजों की जान चली गई, राज्य सरकार से मेरी मांग है कि सरकारी अस्पतालों में आईसीयू बैड, वेंटिलेटर, ऑक्सीजन की अच्छी व्यवस्था पर गंभीरता से ध्यान देने की आवश्यकता है। उन्होंने आमजन से कोविड मरीजों के प्रति अच्छा व्यवहार करने की अपील की है।


उन्होंने कहा कि, आपका सबका बहुत आभारी हूं, कृतज्ञ प्रणाम करता हूं, राजनीति एवं समाज में जनमत एक बड़ी ताकत होती है, लोग, लोकमत बड़ी होती, लोकसंग्रह उसका बड़ा हिस्सा है, मैंने जीवन में जो बड़ी पूंजी कमाई है, वो आप सब लोग हैं, असंख्य लोग मुझसे जुड़े हुये हैं, मेरे लिये दुआएं कर रहे हैं, दुआओं में दम है, आपकी दुआएं मेरे साथ हैं तो मुझे कोई जोखिम नहीं है, आपकी दुआओं से मैं हंसकर मुकाबला करने को तैयार हूं।

आप लोगों से आगामी दिनों में फेसबुक माध्यम से रू-ब-रू होने की दोबारा कोशिश करूंगा, दुआओं में याद रखियेगा, जल्द ही स्वस्थ होकर आप लोगों की सेवा में हाजिर रहूंगा, आराध्य गोविंददेवजी भगवान, मोती डूंगरी गणेश जी भगवान, शिला माता, जमवाय माता को सादर प्रणाम, वंदन।


फेसबुक संवाद के दौरान डॉ. पूनियां ने दौलत तंवर, भंवरलाल विश्नोई, भंवरसिंह शेखावत, सुरेश सैनी, ललित कुमार शर्मा, नरेश बंसल, ललित नामदेव, हेमंत लांबा, अनंत भटनागर, रामगोपाल सुधार, गिरीश अग्रवाल, रवि बंसल, ओमेन्द्र सिंह राघव, रामदेव चौधरी, महेन्द्र मेघवाल, महेन्द्र सिंह, सत्येन्द्र पाराशर, अविनाश जोशी, हीरेन्द्र कौशिक, विमल कटियार, विनोद बाफना, आनंद शर्मा, पवन कोठारी सहित तमाम शुभचिंतकों, कार्यकर्ताओं एवं आमजन के कमेंट्स पढ़कर उनको जवाब भी दिये।


डॉ. पूनियां ने आमजन एवं कार्यकर्ताओं से अपील करते हुये कहा कि, स्वास्थ्य लाभ ले रहू हूं, इसलिये कार्यकर्ता एवं आमजन मुझे मोबाइल पर मैसेज कर सकते हैं, हेल्पलाइन नंबर 9116767676 पर भी अपनी बात कह सकते हैं , इस पर वॉट्सअप एवं कॉल की भी सुविधा है, और 0141- 2812155 पर कॉल कर भी अपनी बात कह सकते हैं।