पायलट से किए वादे पूरे होने शुरू हुए, प्रदेश प्रभारी हटाया, कमेटी का भी गठन

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और तत्कालीन उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच 1 महीने तक चली राजनीतिक लड़ाई के बाद जिस 3 सदस्य कमेटी का गठन किया जाना था, उसका आज गठन कर दिया गया है।

कमेटी के अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल होंगे, जबकि इस 3 सदस्य कमेटी में केसी वेणुगोपाल और अजय माकन को शामिल किया गया है।

इसके साथ राजस्थान प्रदेश कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे को हटाकर उनकी जगह अजय माकन को नया प्रभारी लगाया गया है। अजय माकन को सचिन पायलट का करीबी माना जाता है, जबकि अहमद पटेल और केसी वेणुगोपाल अशोक गहलोत के करीबी बताए जाते हैं।

आपको बता दें कि 13 जुलाई को राजस्थान में राजनीतिक संकट खड़ा हुआ था। जिसके बाद सचिन पायलट समेत 18 विधायक सरकार से दूर होकर दिल्ली में जाकर बैठ गए थे। इसके बाद 1 महीने तक गहलोत और सचिन पायलट के बीच लंबी लड़ाई चली।

अगस्त के महीने में जब 14 अगस्त को विधानसभा का सत्र शुरू होने का ऐलान किया गया तो उसके 3 दिन पहले सचिन पायलट ने अपने साथी विधायकों के साथ सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा से मुलाकात कर अपनी शिकायतों के बारे में बताया।

सचिन पायलट समेत तमाम विधायकों की शिकायत के आधार पर एक तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है। यह कमेटी इन विधायकों की शिकायतों को सुनेगी और उन शिकायतों को केंद्रीय आलाकमान समेत अशोक गहलोत सरकार से पूरा करवाने का कार्य करेगी।

यह भी पढ़ें :  Madhay pradesh : विधायक के निधन से कांग्रेस की निश्चिंतता में खलल