विधायक दल की बैठक में पत्रकारों पर तिलमिलाई वसुंधरा!

जयपुर। पिछले एक महीने से राजस्थान में कांग्रेस के भीतर जो अंतर्कलह चल रही है, उस दौरान भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और दो बार की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के द्वारा सरकार को घेरने के लेकर कोई टिप्पणी या बयान नहीं दिए जाने की खबरों को लेकर वसुंधरा राजे भाजपा विधायक दल की बैठक में शुक्रवार को गुस्सा हो गईं।

बैठक के बाद भाजपा के दो विधायकों ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि वसुंधरा राजे ने भाजपा विधायक दल की बैठक में खुद प्रदेश नेतृत्व, नेता प्रतिपक्ष, उपनेता प्रतिपक्ष समेत प्रदेश प्रभारी, संगठन महामंत्री और केंद्रीय कृषि मंत्री की उपस्थिति में खुद के खिलाफ मीडिया में चल रही खबरों को लेकर नाराजगी जाहिर की।

बैठक में भाजपा की तरफ से तय किया गया है कि सरकार के खिलाफ शुक्रवार से शुरू हो रहे विधानसभा सत्र के दौरान अविश्वास प्रस्ताव लाया जाएगा भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया और उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र सिंह राठौड़ ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि सरकार एक महीने से विभिन्न होटलों में कैद है और विधायकों को जिस तरह से पुलिस पहरे में रस्सी के सहारे बसों में ले जाया जा रहा है, इससे साबित होता है कि विधायक सरकार के पक्ष में नहीं हैं।

उनको ताकत के बल पर एकत्रित किया गया है। एक सवाल के जवाब में भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि कितने विधायक अंतरात्मा की आवाज पर भाजपा के पक्ष में खड़े होंगे यह तो विधानसभा की भी तरीके तय होगा, लेकिन जिस तरह से इस वैश्विक महामारी के दौरान सरकार ने जनता को मरने के लिए अपने भरोसे छोड़ दिया है, उससे राज्य में जनता काफी विरोध में है और भाजपा चाहती है कि इस तरह की निकम्मी सरकार जल्दी से जल्दी विदा हो जाए।

यह भी पढ़ें :  7 लाख पैंशनर्स को दवा नहीं, डॉ. सतीश पूनियां ने पत्र लिखकर मुख्यमंत्री को चेताया

सरकार के खिलाफ जो अविश्वास प्रस्ताव भाजपा की तरफ से लाया जाएगा, उस पर सर्वसम्मति से फैसला किया गया है और सभी विधायकों के हस्ताक्षर हुए हैं। हालांकि बैठक शुरू होने से पहले पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया के घर पहुंच कर उनसे मुलाकात की, देश के विभिन्न मायने निकाले जा रहे हैं।

राजस्थान विधानसभा में पत्रकारों के प्रवेश पत्र बनाने और कैमरामैन को प्रवेश नहीं देने को लेकर भी राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि यह दुर्भाग्य है कि लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को विधानसभा की कार्रवाई कवर करने से बाधित किया जा रहा है।

विधायक दल की बैठक में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया और उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र सिंह राठौड़ के अलावा केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री वी मुरलीधर राव, प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना, राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री वी सतीश प्रदेश संगठन महामंत्री चंद्रशेखर भी मौजूद रहे।