वसुंधरा राजे सिंधिया को लेकर केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने दिया बड़ा बयान, बताई उनकी चुप्पी की वजह

जयपुर। नरेंद्र मोदी सरकार में केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वसुंधरा राजे सिंधिया को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने एक न्यूज़ एजेंसी के साथ साक्षात्कार में वसुंधरा राजे की चुप्पी के कारण बताए।

एक सवाल के जवाब में गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि वसुंधरा राजे इस सारे मामले पर चुप रहे हैं, उसका एक रणनीतिक कारण हो सकता है। हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि यह रणनीति क्या है और वसुंधरा राजे किस तरह से रणनीतिक रूप से कार्य कर रही हैं।

1992 में जोधपुर की जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय छात्रसंघ अध्यक्ष बनकर अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत करने वाले गजेंद्र सिंह शेखावत ने 1993 के विधानसभा चुनाव के दौरान तत्कालीन मुख्यमंत्री भैरों सिंह शेखावत के साथ चुनाव प्रचार में हिस्सा लेकर सार्वजनिक रूप से ख्याति पाई थी।

गजेंद्र सिंह शेखावत और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के बीच राजनीतिक दूरियां जगजाहिर हैं। ऐसे में गजेंद्र सिंह शेखावत के द्वारा वसुंधरा राजे को लेकर किए गए सवाल पर रणनीतिक कहानी बताने के बाद स्पष्ट हो गया है कि वह वसुंधरा राजे को लेकर कोई बात नहीं करना चाहते हैं।

उल्लेखनीय है कि पिछले 4 दिन से राजस्थान के मुख्यमंत्री उनकी सरकार के मंत्री और समर्थन देने वाले तमाम निर्दलीय विधायकों समेत कांग्रेस के विधायक जैसलमेर के एक होटल में मौजूद हैं, जहां से उनका 14 अगस्त को जयपुर लौटने का कार्यक्रम है।

यह भी पढ़ें :  1500 करोड़ से सरकारी स्कूलों में 20 हजार कमरे बनायेगी सरकार