14 अगस्त से विधानसभा, लेकिन स्पीकर सीपी जोशी के वीडियो से मचा बवाल

जयपुर। लगातार एक पखवाड़े से सरकार और राज्यपाल के बीच चल रही राजनीतिक रस्साकशी के बाद आखिरकार 14 अगस्त को सुबह 11:00 बजे से राजस्थान विधानसभा का सत्र आहूत किए जाने के लिए आज अधिसूचना जारी कर दी गई है।

हालांकि बुधवार को विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी को उनके निवास पर राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत द्वारा जन्म दिवस की बधाई देने के दौरान बोली गई बातों को लेकर राजनीतिक तूफान खड़ा हो गया है।

सीपी जोशी वैभव गहलोत से बात करते हुए वीडियो में कहते हुए नजर आ रहे हैं कि अगर सरकार के 30 लोग निकल गए तो फिर इस सरकार का बच पाना मुश्किल हो जाएगा। इसको लेकर भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने स्पीकर से नैतिकता के नाते पद छोड़ने की अपील की है।

गौरतलब है कि पूर्व मुख्यमंत्री सचिन पायलट और उनके साथ के 18 अन्य विधायक राजस्थान विधानसभा में सरकार के खिलाफ हो गए हैं, जिसके चलते सरकार के ऊपर राजनीतिक संकट खड़ा हो गया है।

सवाल यह है कि विधानसभा के स्पीकर के द्वारा वीडियो में जो बातें कही गई है उसके अनुसार संवैधानिक तौर पर विधानसभा स्पीकर किसी भी पार्टी या सरकार का समर्थन नहीं कर सकते तो क्या विधानसभा हंगामेदार होने वाली है?

यह भी पढ़ें :  भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ने आमेर के लिए भेजीं 100 से अधिक सैनेटाइज मशीनें, इससे पहले भेजी थी राशन सामग्री