हनुमान बेनीवाल की बात सच साबित हुई, वसुंधरा गुट कर रहा है गहलोत का बचाव

जयपुर। राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक और नागौर के सांसद हनुमान बेनीवाल के द्वारा 1 दिन पहले राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के गठजोड़ का आरोप लगाते हुए कहा था कि गहलोत की सरकार को वसुंधरा राजे बचा रही है।

हनुमान बेनीवाल की इस बात पर साला की भारतीय जनता पार्टी की तरफ से कहा गया है कि यह हनुमान बेनीवाल का व्यक्तिगत विचार था और उनसे बात हुई है, वह दोबारा इस तरह किसी भाजपा नेता पर हमला नहीं करेंगे।

आज वसुंधरा राजे के बेहद करीबी और राजस्थान विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष कैलाश मेघवाल के द्वारा जो लिखित बयान जारी किया गया है, उससे साबित होता है कि वसुंधरा राजे खेमें के द्वारा राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार को बचाने का भरसक प्रयास किया जा रहा है।

राज्य में जारी राजनीतिक उठापटक और आरोप-प्रत्यारोप के बीच कैलाश मेघवाल ने एक लिखित बयान जारी करते हुए कहा है कि प्रदेश में चाहिए सरकार वसुंधरा राजे की हो या फिर अशोक गहलोत की, लेकिन कभी भी इस तरह से खरीद फरोख्त का काम नहीं किया गया।

कैलाश मेघवाल भीलवाड़ा के शाहपुरा विधायक भारतीय जनता पार्टी के सबसे वरिष्ठ नेताओं में से एक हैं, लेकिन जिस तरह से उन्होंने अपने बयान में भाजपा का बचाव नहीं करते हुए दोनों पार्टियों को एक तरह से लताड़ पिलाई है और अप्रत्यक्ष रूप से अशोक गहलोत सरकार का बचाव किया था, उससे हनुमान बेनीवाल की बात सच साबित होती हुई नजर आ रही है।

उल्लेखनीय है कि कैलाश मेघवाल को पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के सबसे खास नेताओं में से एक माना जाता है। उन्होंने एक दिन पहले ही वसुंधरा राजे के बंगला नंबर 13 के बचाव में प्रेस कॉन्फ्रेंस करके राजनीति में एक नया मोड़ ला दिया था।

यह भी पढ़ें :  नड्डा करेंगे भाजपा पदाधिकारियों संग बैठक

इससे पहले सदन के संचालित होने के वक्त भारतीय जनता पार्टी के डॉ सतीश पूनिया और वसुंधरा राजे के बीच सदन के ना पक्ष लॉबी में हुई तू तू मैं मैं के दौरान कैलाश मेघवाल में वसुंधरा राजे का पक्ष लिया था।

गौरतलब है कि आजकल राजस्थान के अशोक गहलोत सरकार जारी राजनीतिक संकट में है और कई नेताओं के द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर राज्य की गहलोत सरकार को बचाने का आरोप लगाया गया है।

नागौर के सांसद और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल ने गुरुवार को ट्वीट करके वसुंधरा राजे पर आरोप लगाया था कि वसुंधरा राजे की सरकार को बचाने के लिए वह कांग्रेस के विधायकों को फोन कर रही हैं।

इसके अलावा हनुमान बेनीवाल ने यह भी आरोप लगाया था कि पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का सिविल लाइन स्थित 13 नंबर बंगला इसलिए खाली नहीं करवा रहे हैं, क्योंकि वसुंधरा राजे अशोक गहलोत की सरकार को गिरने से बचाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही हैं।