गहलोत ने राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और विशेष रूप से अंग्रेजी भाषा के इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर गंभीर सवाल उठाये

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान के राजनीतिक घटनाक्रम पर पत्रकारों के साथ बात करते हुए राष्ट्रीय मीडिया और खास तौर से अंग्रेजी के इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के ऊपर सारे मामले को लेकर एक तरफा रिपोर्टिंग करने का आरोप लगाया है।

जयपुर में पत्रकारों के साथ भारत में हुए अशोक गहलोत ने एक बार फिर से दावा किया कि राज्य में भारतीय जनता पार्टी की तरफ से उनकी पार्टी में सेंधमारी की जा रही है और पार्टी तोड़ने के लिए हॉर्स ट्रेडिंग हो रही है, हॉर्स ट्रेडिंग के उनके पास सबूत है।

अशोक गहलोत ने एक बार फिर से दावा किया कि राजस्थान में कांग्रेस पार्टी को भाजपा की तरफ से तोड़ने की पूरी कोशिश की जा रही है और देश में डेमोक्रेसी को खत्म करने की साजिश हो रही है, इसको लेकर मीडिया को आवाज उठानी चाहिए।

गहलोत ने मीडिया पर भी सवाल उठाते हुए झल्लाहट दिखाई और सारे मामले को एक तरह मीडिया के सिर पर फोड़ दिया है। गहलोत ने कहा कि 20 करोड का सौदा होने जा रहा था।

उन्होंने कहा कि 40 साल हो गए राजनीति करते, नई पीढ़ी आई है, उसे उनसे कुछ सीखना चाहिए। एकदम से अशोक गहलोत ने सचिन पायलट को उनकी उम्र और अनुभव याद दिलाते हुए यह बात कही है।

गहलोत ने सचिन पायलट पर गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि इनकी रगडाई होती तो अच्छा काम करते, केंद्रीय मंत्री बन गए, पीसीसी अध्यक्ष बन गए, इसलिए सचिन पायलट का मुंह ऊपर हो गया और सीधे आलाकमान को चुनौती दे दी।

यह भी पढ़ें :  54 हज़ार लेक्चरर, 8 हज़ार पटवारियों के बाद 27 हज़ार पंचायत सहायक भी 21 से धरने पर

अशोक गहलोत ने इस सारे मामले में नई पीढ़ी को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि टेलीविजन पर नए-नए एंकर और नए-नए पत्रकार आ जाते हैं, जो हेड लाइन बनाने के लिए कुछ भी लिख देते हैं उन्होंने कहा कि नई पीढ़ी के लोग देश को बर्बाद कर रहे हैं।