देशद्रोह के जुर्म में गिरफ्तार हो सकते हैं सचिन पायलट?

जयपुर। अब से दो घन्टे पहले तक राजस्थान को उपमुख्यमंत्री और तभी तक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट को देशद्रोह के जुर्म में राजस्थान पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जा सकते हैं।

पिछले दिनों उनके ऊपर एसओजी द्वारा धारा 124A के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। इस धारा को लेकर राजस्थान हाई कोर्ट के वरिष्ठ वकील एके जैन का कहना है कि जब किसी के खिलाफ आईपीसी की धारा 124A लगाई जाती है तो उसका मतलब देशद्रोह होता है।

एसओजी की तरफ से दर्ज की गई एफआईआर पर बात करते हुए एडवोकेट एके जैन का कहना है कि इस तरह की धारा अट्ठारह सौ नब्बे के दशक में भारत के क्रांतिकारियों पर लगाई जाती थी, जिसका प्रयोग अब कांग्रेस पार्टी अपने ही नेताओं के खिलाफ कर रही है।

उल्लेखनीय है कि राजस्थान में पिछले 4 दिन से बड़ा राजनीतिक ड्रामा चल रहा है। आज राजस्थान मंत्रिमंडल में से उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट पर्यटन मंत्री विजेंद्र सिंह के साथ खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री रमेश मीणा को बर्खास्त कर दिया गया है।

इसके साथ ही कांग्रेस ने अपने प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट, यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष मुकेश भाकर, एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यु पूनिया और सेवा दल के अध्यक्ष राकेश पारीक को भी बर्खास्त कर दिया है।

कांग्रेस विधायक गोविंद सिंह डोटासरा लगाया गया है। जबकि यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष पद पर गणेश घोघरा, एनएसयूआई के अध्यक्ष पद पर अभिषेक चौधरी और सेवादल का अध्यक्ष हेमसिंह शेखावत को बनाया गया है।

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक और नागौर के सांसद हनुमान बेनीवाल नेता है कि सचिन पायलट के साथ अशोक गहलोत ने अपमानजनक व्यवहार किया है, और दिसंबर 2018 में उनको मुख्यमंत्री बनना था, लेकिन कांग्रेस आलाकमान की चमचागिरी करके खुद प्रदेश के मुख्यमंत्री बन गए।

यह भी पढ़ें :  राजपूत या ब्राह्मण समाज से ही होगा भाजपा युवा मोर्चा का अध्यक्ष

बहरहाल माना जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी आज शाम तक या कल सुबह तक सचिन पायलट के साथ कोई बड़ी घोषणा कर सकती है। जबकि कहा यह भी जा रहा है कि पायलट राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी ज्वाइन कर सकते हैं।