बड़ा सवाल: असली कांग्रेस कौनसी?

जयपुर। इंदिरा गांधी के जमाने में जब उन्होंने कांग्रेस की जगह ‘कांग्रेस आई’ बनाई तब देशभर में यही सबसे बड़ा सवाल था, यह असली कांग्रेस कौन सी है, लेकिन आज यह सवाल किसी के दिमाग में नहीं है।

लगभग उसी तरह से पिछले 2 दिन से राजस्थान में एक बार फिर से यही सवाल खड़ा हो गया है कि राज्य में असली कांग्रेस का प्रतिनिधित्व कौन कर रहा है, कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट, यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष मुकेश भाकर एनएसयूआई के अध्यक्ष अभिमन्यु पूनिया और सेवा दल के अध्यक्ष राकेश पारीक या फिर प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत?

दरअसल बात की जाए तो कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष सचिन पायलट, युवा कांग्रेस के अध्यक्ष मुकेश भाकर, एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यु पूनिया और सेवादल के प्रदेश अध्यक्ष राकेश पारीक एक ही खेमे में है और इनमें से अधिकांश मानेसर स्थित एक रिसॉर्ट में बैठकों में व्यस्त हैं।

दूसरी तरफ राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उनके खेमे के माने जाने वाले करीब 84 विधायक दिल्ली रोड पर स्थित खुद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत की पार्टनरशिप वाली एक होटल में कैद हैं।

एक तरफ जहां पार्टी के अध्यक्ष और प्रदेश के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट कह चुके हैं कि राज्य की अशोक गहलोत सरकार अल्पमत में हैं और उनके समर्थन में 30 से ज्यादा कांग्रेस के विधायक और कई निर्दलीय विधायक खड़े हुए हैं।

दूसरी और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत लगातार आज तीसरे दिन अपने समर्थक विधायकों के साथ शक्ति प्रदर्शन कर रहे हैं। एक दिन पहले सीएमआर में मीडिया के सामने अपने समर्थक विधायकों की परेड करवा चुके हैं, उसके बाद सभी को ले जाकर एक तरह से होटल में बंद कर दिया है।

यह भी पढ़ें :  संसद में कांग्रेस का सूखा खत्म करेंगे मनमोहन सिंह?

इन सारी गतिविधियों के बाद राजस्थान कि 7.50 करोड़ जनता, जिसमें राज्य के 200 विधायकों को चुनकर भेजा था, वो न केवल आश्चर्यचकित हैं, बल्कि यह सवाल भी ढूंढ रही है कि हमने जिस कांग्रेस को सत्ता सौंपी थी, आखिर वह कांग्रेस है कौनसी?

आप हमारी खबरें google hindi samachar, google samachar, google samachar hindi, hindi samachar पर भी पढ़ सकते हैं।