अशोक गहलोत सरकार को खतरा! कांग्रेस के डेढ़ दर्जन विधायक गुड़गांव में पायलट के साथ

जयपुर। राज्य की कांग्रेस वाली मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सरकार को खतरा उत्पन्न हो गया है। आज दोपहर में मुख्यमंत्री के द्वारा एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया, जिसमें उन्होंने भाजपा पर उनकी सरकार गिराने का आरोप लगाया था।

हालांकि उनकी पूरी प्रेस वार्ता में बोलने से भाजपा पर निशाना लगाए जाने के बजाय अपनी ही पार्टी के विधायकों और मंत्रियों पर निशाना साधना के रूप में देखा गया।

जानकार सूत्रों ने दावा किया है कि कांग्रेस के 18 विधायक उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के साथ गुरुग्राम में ठहरे हुए हैं। राजस्थान की सरकार इसी के चलते उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट और अन्य विधायकों के खिलाफ एसओजी को लगा चुकी है।

जानकारी में यह भी आया है कि इसी के चलते राजस्थान की सरकार ने राज्य की सीमाएं सील कर दी हैं। बताया जा रहा है कि सचिन पायलट के समर्थक अन्य विधायक भी राजस्थान से गुरुग्राम जा सकते हैं।

इससे पहले एसओजी के द्वारा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट समेत कई लोगों को नोटिस जारी करके पूछताछ के लिए बुलाया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि कानून अपना काम करेगा और सरकार अपना काम करेगी।

माना जा रहा है कि उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट को भाजपा के द्वारा केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री बनाए जाने और राजस्थान में अशोक गहलोत की सरकार से दो दर्जन से ज्यादा विधायकों के इस्तीफे करवाए जाने की बातें सामने आ रही हैं।

माना जा रहा है कि सचिन पायलट के द्वारा पाला बदलने और राजस्थान की अशोक गहलोत वाली सरकार को अस्थिर किए जाने की चर्चा के कारण ही एसओजी ने एफ आई आर दर्ज की है, और सचिन पायलट से संबंधित विधायकों के खिलाफ सख्ती दिखाते हुए उनके मोबाइल नंबर टाइपिंग के लिए सर्विलांस पर ले लिए हैं।

यह भी पढ़ें :  Video: 10-10 करोड़ में बिके BTP के विधायक, गहलोत के खास विधायक ने लगाये आरोप