क्या गिर जाएगी अशोक गहलोत सरकार?

-भाजपा अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने कहा: जो सरकार आज अस्थिर है, उसके मुखिया 2023 में सरकार बनाने का दावा करते हैं तो हंसने के सिवाय क्या बोला जा सकता है?

जयपुर। राजस्थान में कांग्रेस की अशोक गहलोत वाली सरकार पर तलवार लटक गई है। खुद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस बात को स्वीकार किया है कि उनकी सरकार को अस्थिर करने के लिए भारतीय जनता पार्टी लगातार प्रयास कर रही है।

मुख्यमंत्री के इस आरोप का जवाब देते हुए भाजपा के अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया ने कहा है कि राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार खुद दो खेमों में बंटी हुई है और मुख्यमंत्री खुद इसलिए उल्टी-सीधी बयानबाजी कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और भाजपा की तरफ से एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाए गए हैं। भाजपा की तरफ से अध्यक्ष डॉ. पूनियां, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया और उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र सिंह राठौड़ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस की सरकार खुद ही गिर जाएगी।

इस बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवास पर सरकार के मंत्रियों, विधायकों और निर्दलीय विधायकों का तांता लग गया है। बताया जा रहा है कि सभी विधायक गहलोत ने विश्वास जताने के लिए पहुंचे हैं।

दूसरी तरफ उपमुख्यमंत्री और कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट अपने गुट के सात-आठ विधायकों के साथ दो-तीन दिन से दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं, जिसके चलते राजस्थान की सरकार को खतरा उत्पन्न हुए जाने की बात बताई जा रही है।

यह भी पढ़ें :  मालवीय नगर को छोड़कर हर सीट पर बढ़ा बोहरा का वोट, फिर भी कम हो गया जीत अंतर