जीत के बाद हनुमान बेनीवाल ने ऐसे जताया आभार

जयपुर।

लोकसभा चुनाव 2019 में नागौर से अपनी बड़ी जीत के बाद राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक और खींवसर से विधायक हनुमान बेनीवाल ने जनता का आभार जताया है।

बेनीवाल ने अपने बयान में कहा है कि नागौर की जनता ने जो विश्वास जताया, उनके ऊपर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ऊपर उसके लिए हृदय से आभारी रहेंगे।

करीब पौने दो लाख से ज्यादा वोटों से जीतने के बाद हनुमान बेनीवाल ने पत्रकारों का भी लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के रूप में हृदय की गहराई से आभार व्यक्त किया है।

हनुमान बेनीवाल ने कहा है कि यह जीत जनता की जीत है, उनकी जीत नहीं है। इसके साथ ही बेनीवाल ने यह भी कहा कि उन्होंने लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान जनता का जो मूड देखा था, उससे साफ हो गया था कि देश में एक बार फिर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार बनने वाली है।

इसी के चलते उन्होंने कई बार अपने बयानों में भी कहा था कि कम से कम 23 सीट और 25 सीट भी जीत सकते हैं।

अब हनुमान बेनीवाल की बात सही साबित हुई और भारतीय जनता पार्टी ने राजस्थान की 24 सीटों पर जीत का परचम लहराया है, जबकि नागौर की एक सीट पर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी और भारतीय जनता पार्टी के एनडीए के उम्मीदवार बने हनुमान बेनीवाल ने जीत दर्ज की।

चुनाव प्रचार के दौरान हनुमान बेनीवाल ने चुनावी सभाओं में बार-बार कहा कि नागौर में जनता का मूड उनकी तरफ है और कांग्रेस पार्टी की उम्मीदवार ज्योति मिर्धा को इस बार नागौर की जनता परमानेंट चुनरी ओढ़ाकर ससुराल भेज देगी।

यह भी पढ़ें :  26 को राहुल गांधी के भाषण का निचोड़ निकलेंगे 'फायर ब्रांड' हनुमान बेनीवाल

उन्होंने कांग्रेस की उम्मीदवार ज्योति मिर्धा को हराया है। हनुमान बेनीवाल ने इसके साथ ही कहा कि राजस्थान की कम से कम 7 सीटों पर उन्होंने प्रचार किया और बीजेपी को जीतने में बड़ी भूमिका अदा की।

गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी ने लगातार दूसरी बार जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए केंद्र में पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है।

इसके साथ ही राजस्थान में 2014 और अब 2019 में भी प्रदेश की सभी 25 सीटों पर कब्जा जमा लिया है। इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि राज्य की सभी सीटें एक ही पार्टी के खाते में जा रही है।

कांग्रेस पार्टी सिर्फ एक बार 1984 इंदिरा गांधी की हत्या कर दी गई थी, राजीव गांधी के नेतृत्व में चुनाव लड़ रही थी।