RBSE विज्ञान का परिणाम घोषित, 91.96% रहा रिजल्ट,

जयपुर। शिक्षा राज्य मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने बुधवार को राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की वर्ष 2020 की कक्षा-12 विज्ञान विषय का परिणाम घोषित किया। 

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड परिसर स्थित कॉन्फ्रेंस हॉल में परीक्षा परिणाम घोषित करते हुए उन्होंने बताया कि इस साल सीनियरी सैकण्डरी विज्ञान की परीक्षा में 2 लाख 37 हजार 305 परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी।

उन्होंने बताया कि परीक्षा परिणाम 91.96 प्रतिशत रहा। डोटासरा ने सभी सफल विद्यार्थियों को बधाई देते हुए कहा कि राजस्थान पहला ऐसा राज्य है, जहां कोरोना के बावजूद सावधानी से परीक्षा करवाकर रिकॉर्ड 19 दिनों में रिजल्ट तैयार किया गया।

जयपुर के झोटवाडा निवासी आयुष गोयल ने 12वीं विज्ञान वर्ग में 98.80 प्रतिशत अंक हासिल किए हैं। आयुष के पिता हरिचरण गोयल सरकारी शिक्षक हैं।

IMG 20200708 WA0053

आयुष गोयल की मां हेमलता अग्रवाल उसी स्कूल में शिक्षिका हैं, जिससे आयुष ने 12वीं कक्षा पास की है।

झोटवाडा स्थित आदर्श विद्या मंदिर के छात्र आयुष ने बताया कि इंजीनियरिंग के बाद आइएएस बनना चाहते हैं। आयुष ने अंग्रेजी से अलावा सभी विषयों में सौ में से सौ अंक हासिल किए हैं।

प्रताप नगर निवासी पलकेश जैन ने भी 98.80 प्रतिशत अंक हासिल किए हैं। पलकेश के पिता सत्यनारायण जैन एक फैक्ट्री में कार्यरत हैं।

पलकेश ने अंग्रेजी, फिजिक्स और गणित में 100 में से 100 अंकल हासिल किए हैं। सांगानेर स्थित राहुल सीनियर सैकण्डरी स्कूल के छात्र पलकेश ने बताया कि सालभर नियमित रुप से 6 घंटे पढ़ाई की।

स्कूल ने भी अतिरिक्त कक्षाएं लगवाई गई। पलकेश जेइई की तैयारी कर रहे हैं। भविष्य में इंजीनियरिंग फील्ड में ही करियर बनाना चाहते हैं।

प्रताप नगर निवासी अरुण गोस्वामी ने 97.20 प्रतिशत अंक हासिल किए हैं। फिजिक्स, कैमिस्ट्री और मैथ्स तीनों विषयों में सौ में से सौ अंक हासिल किए हैं।

यह भी पढ़ें :  क्या सत्ता खोने का भय बुद्धि को भी हर लेता है: डॉ. पूनियां
wp 1594223775700

अरुण के पिता जयप्रकाश स्वामी भी एक कारखाने में काम करते हैं। अब वह एनडीए की तैयारी घर रहकर ही कर रहे हैं। भविष्य में डिफेंस में शामिल होकर देश की सेवा करना चाहते हैं।

किसान की बेटी के 90% अंक प्राप्त कर गांव का नाम रोशन किया

बोराज कस्बे के किसान जय सिंह मीणा की पुत्री अंजली माणतवाल ने विज्ञान विषय में 90.80% अंक प्राप्त कर गांव का नाम रोशन किया। अंजली माणतवाल के पिताजी जयसिंह मीना किसान है और मॉ विनीता देवी ग्रहणी है।

wp 1594223832649

अंजली माणतवाल ने बताया कि मैं प्रशासनिक अधिकारी बनना चाहती हूं और गरीबों की सेवा करना चाहती हूं । अंजली माणतवाल के चाचा फतेह सिंह मीणा वरिष्ठ पत्रकार हैं ।