पुलिस से घीरे “किसान” पुलिस के बीच में डटे हुए हैं किसान महंला में

किसान महापंचायत के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामपाल जाट के नेतृत्व में दिल्ली कूच
30 मई 2020 को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद केंद्र को बन्द कर दिया।

परन्तु किसान खरीद केंद्र पर चना लेकर रूकें थे

जाट ने चने खरीद को लेकर प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, 25 लोकसभा सदस्यों को पत्र लिखा परन्तु खरीद व्यवस्था नहीं करने के कारण किसानों को मजबुरी दूदू से दिल्ली कूच करना पड़ा।

उपखंड अधिकारी दूदू को ज्ञापन देकर पूर्व में बताया गया था कि 4 जुलाई से खरीद चालू नहीं होगी तो 5 जुलाई को किसान चने से भरे ट्रैक्टर ट्रॉली के साथ ही दूदू से दिल्ली की ओर कूच करेंगे वादे के अनुसार किसानों ने दिल्ली की ओर कूच कर दिया है।

किसानों ने ट्रैक्टर – ट्रॉली द्वारा दूदू से रवाना होकर महला तक पहुंचे। महला पहुंचने प्रशासनिक अधिकारी द्वारा आश्वासन मिला की कल वार्ता की जाएगी। जब तक किसानों को लेकर आप (रामपाल जाट) महला ही रुके रहें।

मौके पर पहुंचे प्रशासनिक अधिकारी रमेश महेश्वरी, ग्रामिण पुलिस अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक लक्ष्मण दास स्वामी, सर्किल अधिकारी देवेंद्र सिंह, थाना अधिकारी सुरेश यादव, सहित 5 पुलिस थाने का शहर पुलिस जयपुर कमिश्नर कार्यालय अतिरिक्त अधीक्षक अनिल बेनीवाल दो पुलिस बस, 5 थाना गाड़ियां।

इतनी पुलिस को देख कर भी किसानों का मन निडर और साहसी है किसान बार-बार रामपाल जाट को दिल्ली की ओर प्रस्थान करने के लिए कह रहे हैं परंतु प्रशासनिक अधिकारी द्वारा आश्वासन मिला है कि कल सुबह की वार्ता करवायी जाएगी।

चना खरीद आंदोलन दूदू से दिल्ली कूच में उपस्थित राष्ट्रीय उपाध्यक्ष घासीराम फगोडिया, प्रदेश महामंत्री जगदीश नारायण खुडियाला, अजमेर जिला अध्यक्ष भीचर, दूदू बलदेव महरिया, रामकिशोर दाधिच, हरसौली विमल कोलावत, लोरडी हरजीराम चौधरी,ममाणा रामधन जाट, गागरडू रामगोपाल गुर्जर, झाग रामपाल जाट,
किसान बजरंग जाजुन्दा, नंदलाल मीणा, गौरीशंकर मालू, भंवर लाल सारण छितर मल बैरवा, महावीर सिंह मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें :  अशोक गहलोत की लाचारी खुलकर आई सामने, बोले: कोई अधिकारी मेरी...