नाबालिग लड़की से गैंगरेप मामले में अलवर में थानाधिकारी सहित 4 पुलिसकर्मी लाइन हाजिर

रामगढ़ गैंगरेप मामले में भाजपा द्वारा मामला उठाने पर हरकत में आई राज्य सरकार, थानाधिकारी सहित 4 पुलिसकर्मी निलंबित, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां द्वारा गठित कमेटी ने पीड़िता के परिवार से की थी मुलाकात, भाजपा ने राज्य सरकार से की पीड़िता के परिवार के एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी देने की मांग
जयपुर।

नाबालिक बालिका के साथ रामगढ़ (अलवर) में गैंगरेप एवं पीड़िता के पिता की संदेहास्पद मौत के मामले में भाजपा द्वारा यह मामला उठाये जाने के बाद राज्य सरकार एवं पुलिस हरकत में आई, जिसके बाद एसपी ने आदेश जारी कर इस मामले में थानाधिकारी वीरेन्द्र, जांच अधिकारी सहित 4 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर किया है।


भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश द्वारा गठित कमेटी के सदस्यों ने 28 जून को रामगढ़ पहुंचकर पीड़ित परिवार से मुलाकात की थी, जिन्होंने पुलिसकर्मियों एवं आरोपियों पर कार्रवाई की मांग की थी।

डाॅ. पूनियां द्वारा गठित कमेटी में सांसद रामचरण बोहरा, सांसद जसकौर मीणा, विधायक निर्मल कुमावत एवं साथ में सांसद बाबा बालकनाथ, विधायक संजय शर्मा, भाजपा जिला अध्यक्ष अलवर दक्षिण संजय सिंह नरूका, पूर्व विधायक ज्ञानदेव आहूजा, सुखवंत सिंह शामिल थे, जिन्होंने पीड़ित परिवार से मुलाकात कर राज्य सरकार एवं पुलिस अधिकारियों से कार्रवाई की मांग की थी।

जयपुर सांसद रामचरण बोहरा ने कहा कि राज्य सरकार हर मोर्चें पर विफल है। उन्होंने कहा कि अलवर जिले के मेवात इलाके में गौ-तस्करी, कन्याओं के साथ छेड़छाड़ एवं गैंगरेप, चोरी एवं डकैती की वारदातें आये दिन हो रही हैं।


रामचरण बोहरा ने कहा कि भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां द्वारा गठित तीन सदस्यीय कमेटी के सदस्यों ने रामगढ़ पहुंचकर पीड़िता के परिवार से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि हमने वहां पुलिस के अधिकारियों को बुलाकर उनसे बातचीत की एवं अपराधियों को गिरफ्तार करने की मांग की।

यह भी पढ़ें :  पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव-2020: 25 पर्यवेक्षक कराएंगे चुनाव

उन्होंने कहा कि भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने राज्य सरकार से मांग कर अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की, जिसके बाद राज्य सरकार एवं पुलिस अधिकारी हरकत मंे आये और थानाधिकारी सहित 4 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर किया गया।


बोहरा ने राज्य सरकार से मांग करते हुए कहा कि पीड़िता के परिवार के एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी दी जाये एवं आर्थिक मदद दी जाये।

उन्होंने कहा कि पीड़िता के पिता की हत्या कर उन्हें पेड़ पर लटका दिया गया, ऐसी स्थिति राजस्थान मंे बनती जा रही है, जहां कानून व्यवस्था पूरी तरह फेल है। मेवात में बढ़ रहे अपराध पर लगाम लगाने के लिए सरकार गंभीरता से कदम उठाये।