राजस्थान में सरकार नाम की कोई चीज नहीं है: डॉ. पूनियां

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का ‘मन की बात’ कार्यक्रम भारत के जन जन की बात है : डॉ. सतीश पूनियां

जयपुर।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने चूरू दौरे पर चित्तौड़ प्रांत प्रचारक विजयानंद के निवास पर पहुंचकर उनके भाई के निधन पर शोक संवेदना व्यक्त की।

चूरू में ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम को सतीश पूनियां ने पार्टी कार्यकर्ताओं, जनप्रतिनिधियों एवं पदाधिकारियों के साथ सुना।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने चूरू पहुंचकर देश के प्रसिद्ध पर्वतारोही गौरव शर्मा से भाजपा के विशेष संपर्क अभियान के तहत मुलाकात की और उन्हें कमल संदेश पत्रिका भेंट की।

उन्होंने कहा कि गौरव शर्मा ऐसी शख्सियत हैं जो व्यक्तिगत तौर पर एवरेस्ट फतह करने वाले पहले व्यक्ति हैं, जो हमारे प्रदेश एवं देश के लिए गौरव की बात है।

इस दौरान डॉ. पूनियां ने गौरव शर्मा को मोदी सरकार के 6 वर्ष के कार्यकाल की पुस्तिका भेंट की, जिसमें सभी कल्याणकारी योजनाओं के बारे में जानकारी दी गई है।

चूरू में प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुये डॉ. सतीश पूनियां ने कहा कि, भाजपा का प्रदेशभर में 28 जून और 29 जून को विशेष संपर्क अभियान चलाया जा रहा है, जिसके माध्यम से मोदी सरकार की योजनाओं को लेकर खेल जगत से जुड़े लोग, पूर्व सैनिक एवं अन्य क्षेत्रों से जुड़े प्रतिष्ठित लोगों से पार्टी के प्रमुख लोग संपर्क करेंगे।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. पूनियां ने कहा कि, मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के सफलतम एक वर्ष पूर्ण होने पर देशभर में भाजपा ने मोदी सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को लेकर घर-घर पत्रक भी पहुंचाने का काम किया है, जिसमें कोरोना से बचाव एवं सावधानियों का भी जिक्र किया गया है।

वहीं, राजस्थान में बूथ संपर्क अभियान के माध्यम से मोदी सरकार के पत्रक को करीब 25 लाख घरों तक पहुंचाया गया।

उन्होंने कहा कि, डीएमएफटी के जरिए केंद्र सरकार ने राज्य सरकार को 2765 करोड रुपए दिए। इसी तरह अन्य योजनाओं के जरिए भी केंद्र की मोदी सरकार ने राज्य सरकार को आर्थिक पैकेज जारी किये।

यह भी पढ़ें :  बीजेपी-कांग्रेस के दो SP: क्या रोक पाएंगे VR-2 और AG-3 को?

डॉ. पूनियां का कहना है कि 27 मार्च को नेता प्रतिपक्ष, उपनेता प्रतिपक्ष के साथ मैंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात कर उन्हें आश्वस्त किया था और पूरा विश्वास दिलाया कि हम राज्य सरकार के साथ खड़े हैं।

लेकिन राज्य सरकार ने तुष्टीकरण की राजनीति की, यहां तक कि राशन वितरण में भी प्रदेशभर से भेदभाव की शिकायतें आने लगीं, खुद मुख्यमंत्री और उनकी सरकार के कई मंत्री कोरोना काल में भी सियासत से बाज नहीं आए।

राज्य सरकार पूरी तरह कोरोना प्रबंधन में पूरी तरह में फेल हुई और अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए केंद्र सरकार पर झूठे आरोप लगाते रहे।

राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि, राज्य सरकार कोरोना प्रबंधन में पूरी तरह फैल रही। जिसमें चाहे चिकित्सा अव्यवस्थाओं की बात हो या राशन वितरण में भेदभाव की बात हो।

यहां तक कि प्रवासियों को भी लाने के लिए ट्रेन और बसों को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उनके मंत्री सिर्फ बयानबाजी करते रहे, प्रवासियों की राहत के लिए उचित प्रबंधन नहीं किया।

उन्होंने कहा कि, प्रदेश में क्वॉरेंटाइन सेंटर्स में अव्यवस्थाओं के हाल आमजन ने देखे ही हैं, सैंपलिंग और टेस्टिंग की अवस्थाएं भी लगातार सामने आती रही हैं और इन सब अव्यवस्थाओं को देखकर ऐसा लगता था कि सब भगवान भरोसे चल रहा है। राजस्थान में सरकार नाम की कोई चीज नहीं है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर निशाना साधते हुये डॉ. सतीश पूनियां ने कहा कि, भीलवाड़ा मॉडल के नाम पर राज्य के मुख्यमंत्री झूठी वाहवाही लूटते रहे और हकीकत यह है कि भीलवाड़ा मॉडल जनता का मॉडल था, वहां की जनता, चिकित्साकर्मियों, सुरक्षाकर्मियों ने दिन रात मेहनत कर हालात पर नियंत्रण किया था।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत झूठी वाहवाही लूटने के लिए भीलवाड़ा मॉडल को सामने रखते रहे, अगर भीलवाड़ा मॉडल सरकार की सफलता का मॉडल है तो फिर रामगंज मॉडल भी सफलता का मॉडल होता, कोटा का मकबरा भी मॉडल होता, जोधपुर का कबूतरों का चौक भी मॉडल होता।

यह भी पढ़ें :  दिल्ली चुनाव में जुटी देशभर की भाजपा, राजस्थान बीजेपी भी वहीं पर मौजूद

शिक्षक समुदाय ने भी कोरोना काल में अपनी प्रमुख भूमिका निभाई, ऐसे में केंद्र की मोदी सरकार ने करीब 8 करोड प्रवासियों के लिए रोजगार की व्यवस्था और उनके आवागमन की व्यवस्था के लिए उचित प्रबंधन किया।

कांग्रेस को कठघरे में खड़ा करते हुए डॉ. पूनियां ने कहा कि, आजादी के बाद देश की राजनीति में तमाम बदलाव हुए जिसमें जिसमें सबसे पहला बदलाव 1977 में हुआ इस दौरान गैर-कांग्रेस वाद की शुरुआत हुई और सबसे बड़ा बदलाव भारतीय राजनीति में आया 2014 में जब देश की कमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संभाली।

मोदी ने राजनीति को समाज से जोड़ा और विकास को लेकर जनभागीदारी पर उनका विशेष जोर रहता है और इसी बात को मद्देनजर रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नवाचार करते हुए मन की बात कार्यक्रम शुरू किया, जो पूरे देशभर में प्रसिद्ध है और लोग हर महीने इस कार्यक्रम का बेसब्री से इंतजार करते हैं।

उन्होंने कहा कि, मन की बात भारत के जन जन की बात है, यह अलग बात है कि राहुल गांधी को भले ही पसंद नहीं है, मन की बात देश के लोगों में सकारात्मकता का भाव जगाने के लिए अनूठा कार्यक्रम है।

प्रधानमंत्री मोदी ने आकाशवाणी के माध्यम से मन की बात कार्यक्रम के जरिये रेडियो को फिर से पुनर्जीवित किया और यह लोगों के मन की बात कार्यक्रम सुनने का बड़ा माध्यम बन चुका है, यह कार्यक्रम भारत की समाज व्यवस्था की, प्रशासन की, विकास की और लोगों की मनोभावनाओं को व्यक्त करने का मंच बन गया है।

डॉ. पूनियां ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस राज में नकारात्मकता का भाव ज्यादा रहा और मोदी सरकार ने अपनी कल्याणकारी योजनाओं के जरिए और मन की बात कार्यक्रम के जरिए देश में सकारात्मकता का एक नया माहौल तैयार किया है।

यह भी पढ़ें :  सचिन ने गहलोत-मलिंगा के आरोपों का दिया जवाब

आज की मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने स्वदेशी पर विशेष जोर दिया और स्वदेशी के जरिया आत्मनिर्भर बनने की दिशा में भी उन्होंने देश के अनेक हिस्सों के अनूठे उदाहरण देते हुए आमजन को संदेश दिया।

उन्होंने कहा कि 135 करोड़ की आबादी वाले भारत में मोदी सरकार ने अपने कुशल प्रबंधन से और चिकित्सा क्षेत्र में अनेक नवाचारों के माध्यम से कोरोना पर नियंत्रण स्थापित किया है।

जिसकी ना केवल दुनियाभर में प्रशंसा हो रही है बल्कि विश्व स्वास्थ्य संगठन भी प्रशंसा कर रहा है और इसी के बदौलत भारत विश्व स्वास्थ्य संगठन का कार्यकारी अध्यक्ष बना है, जो हम सभी भारतीयों के लिए गौरवशाली और ऐतिहासिक क्षण हैं।

डॉ. पूनियां ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश आत्मनिर्भरता की तरफ तेजी से आगे बढ़ रहा है,
कोरोना काल में पीपीई किट का भारत में निर्माण होने लगा, विदेशों में भी भारत से पीपीई किट का निर्यात किया जा सकेगा।

पीपीई किट बनाने वाला भारत दुनिया का दूसरा देश बन गया है और इससे भी आगे बढ़कर देश में स्वदेशी वेंटीलेटर भी तेजी से बनने लगे हैं।

उन्होंने कहा कि, कोरोना काल में भाजपा के लाखों कार्यकर्ताओं ने प्रदेशभर में जो सेवा कार्य किये उन पर मुझे खुशी एवं गर्व है।

उन्होंने कहा कि, राजस्थान के पार्टी कार्यकर्ताओं, जनप्रतिनिधियों, पदाधिकारियों ने तीन महीनों में 600 से अधिक सामुदायिक रसोइयों के माध्यम से 1 करोड़ 90 लाख भोजन के पैकेट जरूरतमंद लोगों तक पहुंचाये।

70 लाख से अधिक सूखी राशन सामग्री की किटों का वितरण किया और हमारी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने प्रदेशभर से 50 करोड़ रुपये का राशि का पीएम केयर्स फंड में योगदान दिया।

इस दौरान डॉ. सतीश पूनियां के साथ जिला अध्यक्ष डॉ. पंकज गुप्ता, प्रदेश प्रवक्ता ओमप्रकाश सारस्वत, जिला प्रमुख हरलाल सारण, पूर्व जिला अध्यक्ष वासुदेव चावला, बसंत शर्मा, जिला महामंत्री नरेन्द्र, जिला उपाध्यक्ष भास्कर शर्मा, प्रकाश शर्मा इत्यादि नेता एवं जनप्रतिनिधि मौजूद रहे।