राजपूत या ब्राह्मण समाज से ही होगा भाजपा युवा मोर्चा का अध्यक्ष

जयपुर।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया को विधिवत रूप से अध्यक्ष पद का कार्यभार संभाले हुए 7 महीने से अधिक का समय हो चुका है, लेकिन अभी तक उनकी प्रदेश कार्यकारिणी का गठन नहीं किया गया है।

इस मामले को लेकर भाजपा अध्यक्ष का कहना है कि उनकी तरफ से अंतिम सूची केंद्रीय नेतृत्व को भेजी जा चुकी है और संभावना है कि जल्द ही हरी झंडी मिल जाएगी, उसके बाद पदाधिकारियों के नामों का ऐलान कर दिया जाएगा।

प्रदेश कार्यकारिणी के पदाधिकारियों के अलावा जिन पदों पर सबसे ज्यादा नजर है, उनमें भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के अध्यक्ष, महिला मोर्चा के अध्यक्ष, किसान मोर्चा के अध्यक्ष, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति मोर्चा के अध्यक्ष का नाम है।

युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष को लेकर जबरदस्त लॉबिंग चल रही है, लेकिन इतना तय है कि राजस्थान में भाजपा युवा मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष किसी ब्राह्मण या फिर राजपूत समाज में ऐसे ही बनाएगी।

इस दौड़ में सबसे बड़ा नाम विद्याधर नगर से विधायक नरपत सिंह राजवी के बेटे अभिमन्यु सिंह राजवी है। इसके साथ ही राजपूत समाज से ही प्रेम सिंह बनवासा का नाम भी काफी चर्चा में है।

प्रेम सिंह बनवासा ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यालय में अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां से मुलाकात की।

इसके बाद बुधवार शाम को अचानक से राजवी के बैटे अभिमन्यु सिंह राजवी ने भी डॉ. सतीश पूनियां से अकेले में गुप्त मंत्रणा की।

इन दोनों नामों के अलावा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पूर्व महामंत्री मिथिलेश गौतम का नाम भी काफी चर्चा में है। साथ ही ब्राह्मण समाज से ही लक्ष्मीकांत भारद्वाज का नाम भी दौड़ में बताया जा रहा है।

यह भी पढ़ें :  मेवाड़ कांग्रेस के बड़े नेता बीजेपी में शामिल

गौरतलब है कि लक्ष्मीकांत भारद्वाज वर्तमान में भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता के पद पर कार्यरत हैं। संभावना जताई जा रही है कि जून महीने के अंत तक डॉ. पूनिया की समस्त कार्यकारिणी की घोषणा की जा सकती है। इससे पहले राज्यसभा चुनाव के चलते कार्यकारिणी की घोषणा अटक गई थी।