वी.सतीश, डॉ. सतीश पूनियाँ, गुलाब चंद कटारिया, राजेन्द्र राठौड़ ने किया विधायकों से

अलग-अलग विषयों पर, 5 सत्रों में की भाजपा विधायकों ने चर्चा

जयपुर।

भारतीय जनता पार्टी के विधायकों ने 5 सत्रों में अलग-अलग विषयों पर विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की।

इन सत्रों में पार्टी के राष्ट्रीय सह-संगठन मंत्री वी सतीश, प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियाँ, नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया, उप-नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने विधायकों से संवाद किया।

सुबह योग के साथ शुरुआत के बाद सबसे पहले गलवान घाटी में शहीद हुए भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजली अर्पित की गई।

उसके बाद नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया और उप- नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने विधायकों को राज्यसभा चुनाव की मतदान प्रक्रिया की जानकारी दी और मतदान का प्रशिक्षण दिया । इसका अभ्यास भी करवाया।

इसके बाद पहले सत्र में नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया और उप-नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने “विधायी कार्यों और संसदीय नियमों” की विस्तृत जानकारी विधायकों को दी। विधानसभा में विधायक की भूमिका और प्रश्न पुछने के उसके अधिकारों के बारे में बताया गया।

दूसरे सत्र में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियाँ ने कोरोना संकट की पर विस्तृत चर्चा की। भाजपा के सभी विधायकों ने लाकडाउन के दौरान अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों में चलाए गए राहत कार्यों की जानकारी दी।

साथ ही सभी विधायकों ने राज्य सरकार के नकारात्मक रुख़ की जानकारी दी। जिसमें अधिकारियों द्वारा भाजपा के जनप्रतिनिधियों से भेदभाव और राशन और राहत सामग्री वितरण में भेदभाव किया गया।

साथ ही राज्य सरकार के कुप्रबंधन और सांप्रदायिक आधार पर राशन वितरण के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाने पर जनप्रतिनिधियों और कार्यकर्ताओं पर दर्ज मुक़दमों की जानकारी पार्टी नेतृत्व को दी गई।

यह भी पढ़ें :  हनुमान बेनीवाल ने स्थानीय लोगों को नौकरी देने के लिए संसद में उठाई यह मांग

तीसरे सत्र में राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों के ख़िलाफ़ बड़ा आंदोलन खड़ा करने पर चर्चा हुई।

जिसमें यह तय हुआ की और विषयों के साथ ही प्रदेश में बिजली-पानी के तीन महीनों के बिल माफ़ करने की माँग को लेकर कोरोना संक्रमण की वर्तमान परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए भाजपा एक बड़ा आंदोलन करेगी।

साथ ही जनता के मुद्दों पर पुरी तरह फ़ेल हो चुकी कांग्रेस सरकार के ख़िलाफ़ भाजपा आंदोलन करेगी।

चौथा सत्र “संगठनात्मक कार्य और विधायकों की भूमिका “ का रहा जिसे पार्टी के राष्ट्रीय सह-संगठन मंत्री वी. सतीश ने सम्बोधित किया और संगठन में विधायकों की भूमिका के बारे में विस्तृत चर्चा की।

सभी सत्रों में भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री मुरलीधर राव, प्रदेश संगठन महामंत्री चंद्रशेखर और आरएलपी के अध्यक्ष पुखराज गर्ग मौजूद रहे।