भाजपा 2 दिन तक होटल में आत्मनिर्भर भारत पर मंथन, कोरोनावायरस पर बात और 26 विधायकों को प्रशिक्षण देने का काम करेगी

जयपुर।

कांग्रेस पार्टी और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अगुवाई में कांग्रेस के विधायकों, निर्दलीय, भाकपा के दो और बीटीपी के दो विधायकों को दिल्ली रोड पर स्थित जेडब्ल्यू होटल में पिछले 7 दिन से ठहराया हुआ है।

19 जून को 3:00 राज्यसभा सीटों के लिए होने वाले मतदान से पहले मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी की तरफ से प्रदेश मुख्यालय में विधायक दल की बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के 3 विधायकों ने भी हिस्सा लिया।

लगभग 2 घंटे तक चली विधायक दल की बैठक के बाद पार्टी के सभी विधायकों को जयपुर में ही सीतापुरा स्थित एक निजी होटल में ठहराया गया है।

IMG 20200616 WA0034

भाजपा अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया का कहना है कि यहां पर अगले 2 दिन तक 26 नए विधायकों के लिए राजसभा चुनाव हेतु प्रशिक्षण कार्यक्रम होंगे, आत्मनिर्भर भारत अभियान पर मंथन होगा और विश्वभर समेत प्रदेश में कहर बरपा रही कोरोनावायरस की वैश्विक महामारी के ऊपर बातचीत की जाएगी।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी के द्वारा चुनाव से लगभग 10 दिन पहले बाड़ाबंदी की गई है, लेकिन भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस में परंपरागत रूप से बड़ा अंतर है।

उन्होंने कहा कि भाजपा कभी भी बाड़ाबंदी में विश्वास नहीं करती है, किंतु चुनाव से ठीक ठीक 2 दिन पहले यहां पर सब परिवार की तरह एकत्रित हुए हैं और प्रशिक्षण के अलावा मंथन कार्य किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि 19 जून को होने वाले तीन राज्यसभा सीटों के लिए कांग्रेस पार्टी के पास 107 खुद के, 13 निर्दलीय, दो माकपा के और दो बीटीवी के विधायकों का समर्थन हासिल है, जबकि भारतीय जनता पार्टी के पास 72 खुद की और 3 राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी विधायकों का समर्थन है।

यह भी पढ़ें :  हनुमान बेनीवाल ने चिकित्सा मंत्री से की मांग: नागौर जिले में मिले कुल 5 और कोरोना पॉजीटिव

संख्या बल के आधार पर बात की जाए तो 3 में से 2 सीटें कांग्रेस पार्टी जीतेगी और एक सीट पर भाजपा की जीत होगी, लेकिन राज्य में अशोक गहलोत सरकार के द्वारा राजनीतिक नौटंकी का माहौल बना कर विधायकों को होटल में बंद किया गया है।